भाजपा को बड़ा झटका – चुनाव नतीजों से पहले ही 10 विधायको ने छोड़ी पार्टी

loading...

राजस्थान में 7 दिसम्बर को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए 131 प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी होने के बाद भारतीय जनता पार्टी में बगावत के सुर तेज हो गए हैं।

लिस्ट के सामने आने के एक दिन बाद ही पार्टी से 5 बार के विधायक रहे और वसुंधरा सरकार के मंत्री सुरेंद्र गोयल ने इस्तीफा दे दिया। इतना ही नहीं, उनके इस्तीफे के साथ ही जहां 21 विधायकों ने पार्टी छोडने की धमकी दी है, वहीं टिकट न मिलने पर भा`ज`पा के नागौर से विधायक हबीबुर्रहमान ने नाराज होकर पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।

loading...

 

राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए टिकट न मिलने से नाराज गोयल ने महज 2 लाइन लिखकर भा`ज`पा को अपना त्याग पत्र दिया।। बताया जा रहा है कि सुरेंद्र गोयल के बाद अब 3 और कैबिनेट मंत्री कालीचरण सर्राफ, राजपाल सिंह शेखावत और यू`नु`स खान भी अगली लिस्ट आने का इंतजार कर रहे हैं।

अगर अगली लिस्ट में उनका नाम नहीं होगा तो वे भी पार्टी छोड़ सकते हैं।। राजपाल शेखावत ने सोमवार को मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से उनके आवास पर मुलाकात की और उनसे झोटवाड़ा सीट की बजाय सांगानेर से टिकट देने को कहा है।

वसुंधरा सरकार में भारी-भरकम मंत्रालय संभालने वाले मंत्री सुरेंद्र गोयल भड़क गए हैं। उन्होंने यहां तक कह डाला कि वह भा`ज`पा को बर्बाद कर देंगे।

मंत्री जी के समर्थकों ने खुलेआम भाजपा के कमल के निशान वाले झंडे को जलाया और भाजपा मुर्दाबाद के नारे लगाए। मंत्री जी भी समर्थकों के गुस्से को देख अपना धैर्य खो बैठे और कहा कि भाजपा के जिस वट वृक्ष को खड़ा किया है उसे उखाड़ दूंगा।

loading...