राजस्थान मुख्यमंत्री ने अम्बानी अडानी जैसे बड़े कारोबारियों को जाल में फंसाया, मुसीबत में पड़े अम्बानी, जाने मामला

loading...

हाल ही में देश के 3 राज्यों में कोई विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने जीत हासिल कर राजस्थान मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में सरकार बनाई है। अब खबर सामने आ रही है कि राजस्थान में देश के जाने-माने कारोबारियों के लिए बुरी खबर सामने आ रही है। जिसमें रिलायंस ग्रुप और अदानी ग्रुप जैसी कंपनियां भी शामिल है। आपको बता दें कि राजस्थान सरकार रिजल्ट राजस्थान यूनिवर्सिटी एडमिट के 200 से ज्यादा एमओयू निरस्त करने का फैसला ले चुकी है। जिसमें अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस और गौतम अदानी कंपनी ग्रुप का नाम भी सामने आया है। खबर के मुताबिक राजस्थान की पूर्व वसुंधरा राजे सरकार ने साल 2015 में एक इन्वेस्टर सम्मिट का आयोजन किया था।

जिसके तहत सरकार ने 3. 37 लाख करोड़ के 470 एम ओ यू किए थे। बताया जा रहा है कि उस इन्वेस्टर मीटिंग के 3 साल के बाद सिर्फ 124 एमओयू ऐसे हैं जिन पर काम हो पाया है। कई बड़ी कंपनियों ने तो इस संदर्भ में काम तक शुरू नहीं किया है। जिसके चलते उन्हें नोटिस भेजे जाएंगे अगर काम शुरू नहीं किया गया तो इन एमओयू को रद्द भी किया जाएगा। आपको बता दें कि रिसर्च सेंटर राजस्थानी इन्वेस्टमेंट समिट में 240 एमओयू ऐसे थे ,जिनमें ढाई लाख करोड़ रु. से ज्यादा का निवेश होने वाला था. इसमें पर्यटन, खनन और मेडिकल जैसे क्षेत्र शामिल थे। लेकिन किसी भी कंपनी ने राजस्थान में रूचि नहीं दिखाई।

अभी तक शुरू नहीं हुए प्रोजेक्ट

loading...

बताया जा रहा है कि रिसर्जेंट राजस्थान इनवेस्टमेंट समिट में टूरिज्म में 10,442 करोड़ के 221 एमओयू हुए थे। जबकि मेडिकल में करीब 2700 करोड़ रु. के 14 एमओयू हुए थे।

लेकिन इनमें कोई भी प्रोजेक्ट शुरू नहीं किया गया। वहीं, माइंस में 76 हजार करोड़ के 25 एमओयू हुए और इसमें निवेश केवल 1500 करोड़ रुपये का आया है।

loading...