पॉवर में आया ईरान, मिसाइल कार्यक्रम से ट्रम्प के छुट्टे पसीने, जाने पूरा मामला

loading...

अमरीका ईरान को पिछले चालीस साल से निशाना बना रहा है, और पिछले एक दशक से अमरीका ने ईरान पर कई तरह की पाबंदी लगा रखी है,जिसकी वजह से ईरान को काफी परेशान होना पड़ा है, इसके बावजूद ईरान कभी भी व्हाइट हाउस के आगे नहीं झुका है, और हमेशा मुंह तोड़ जवाब दिया है,एक बार फिर अमरीका ने ईरान पर निशाना साधा है, और कई आरोप लगाए हैं। दरअसल ईरान इस वक़्त कई छेत्रों में आगे बढ़ रहा है, और अमरीका इसे अपने लिए और खितते के लिए खतरा मानता है, अमरीका का मानना है कि ईरान अगर ताकतवर हो गया तो अमरीका और इजरायल के लिए खतरा साबित हो सकता है.

इसी वजह से ईरान पर हमेशा अमरीका सख्त रहता है, और एक बार फिर अमरीका ने ईरान से कहा है कि वह बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम को बंद कर दे, लेकिन ईरान ने इसे मानने से पूरी तरह इंकार कर दिया है। आप को बता दें कि ईरान इस वक़्त अंतरिक्ष समेत प्रौद्योगिकी में काफी आगे बढ़ रहा है,और यह बात अमरीका को किसी भी तरह कबूल नहीं है, इस लिए अमरीका ईरान को हर हाल में रोकना चाहता है, इसी के चलते अमरीका ने कहा है कि वह मिसाइल बनाना तुरंत बंद कर दें.

loading...

वहीं अमरीका ने यह भी कहा है कि ईरान ने अपने मिसाइल कार्यक्रम को बंद नहीं करता है, तो उसे नतीजे भुगतने होंगे। अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा है कि ईरान जो इस वक़्त मिसाइल बना रहा है, वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के 2231 प्रस्ताव के खिलाफ है.

इस लिए ईरान को ऐसे कामों से बाज़ रहना चाहिए। और मिसाइल कार्यक्रम को तुरंत बंद कर देनी चाहिए। अमरीका के इस धमकी के बाद ईरान का भी बयान आया है, ईरान ने कहा है कि अमरीका ईरान को कमजोर रखना चाहता है, और वह पिछले चालीस साल से हमें धमकी दे रहा है, लेकिन हम अमरीका के धमकी के आगे झुकने वाले नहीं हैं।

loading...