अ!योध्या वि!वाद : मुस्लिम पक्ष के वकील ने उठाया ऐसा सवाल रुक गयी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, पढ़ें

loading...

अयोध्या में मं!दिर-मस्जि!द मामले की सुनाई इन दिनों सुप्रीम कोर्ट में चल रही है, जिस पर पूरे देश की निगाह टिकी हुई है. आपको बता दें कि हाल में सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में एक फैसला सुनाया था और मस्जि!द में नमाज़ पढने को इस्लाम का अ!भिन्न हिस्सा मानने से साफ इनकार कर दिया था. हालाँकि कोर्ट के इस फैसले पर काफी मिली जुली प्रतिक्रिया देखने को मिली. कुछ लोगों ने कोर्ट के इस फैसले पर ऐतराज़ जताया तो कुछ लोगों ने स्वागत किया. कोर्ट के फैसले का स्वागत करने वालों का कहना था कि मुस्लिमों की भावना से इतर कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है.

इससे कोर्ट से उम्मीद की जा सकती हैं कि कोर्ट इस मामले में भा!वना को कोई नहीं जगह देगा और फैसला तर्क से होगा. बहरहाल, आज इस मामले की सुनाई शुरू हुई और अब अगली तारिख 29 जनवरी की दे दी गई है. आपको बता दें कि सुनाई में पांच जजों में शामिल थे. इनमे जस्टिस यूयू ललित भी शामिल थे. लेकिन इस दौरान मुस्लि!म पक्ष की ओर से जस्टिस यूयू ललित को लेकर सवाल खड़ा किया गया. दरअसल मुस्लि!म पक्ष के वकील की तरफ से कहा गया है कि जस्टिस ललित 1994 में रा!म मंदिर से जुड़े मा!मले में यूपी के पूर्व मु!ख्यमंत्री कल्याण सिंह के वकील के तौर पर पेश हुए थे.

loading...

हालाँकि अब जस्टिस ललित ने खुद सफाई देते हुए कहा है कि वह इस सुनवाई का हि!स्सा नहीं बनना चाहते हैं. इस पर अब अगली सुनवाई की तारिख तय करने पर चीफ जस्टिस गोगोई ने किसी और दिन बैठने की बात कही है और इस तरह सुनाई टाल दी गई.

आपको बता दें कि 1994 में कोर्ट के आदेश की अवहेलना करने के मामले में जस्टिस यूयू ललित यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह और भाजपा नेता के वकील के तौर पर कोर्ट में पेश हुए थे.

loading...