चीन में इस्लाम पर लगाये गए कानून पर क्या कहेंगे इमरान खान, चीन ने बंद किया…..

loading...

खुद को आधुनिक और मानव अधिकार का समर्थक बताने वाला चीन इन दिनों इस्लाम और मुसलमानों के प्रति किस तरह का रवय्या अपना रहा है, वह बात अब किसी से छुपी नहीं. चीन में मुसलमानों का दमन हो रहा है और उनके अधिकारों का हनन किया जा रहा है. अभी कुछ समय पहले खबर आई थी कि वहां पर मुस्लिम अपने बच्चो के कुछ निश्चित नाम नहीं रखते थे. बाकायदा चीन ने उन नामो की एक लिट्स जारी की थी, जिन्हें रखने की मनाही जारी की गयी थी. इस बीच अब चीन एक और नया कानून लाने जा रहा है. चीन के इस क़ानून के ज़रिये मुसलमानों को उनकी मज़हबी परंपरा को अमल में लाने में रोकने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है.

चीन के इस नए कानून के अंतर्गत वहां की मुस्लिम महिलाओं को एक तरफ जहाँ बुर्का पहनने से रोका जायेगा, वहीँ मुस्लिम मर्दों को ढाढ़ी रखने पर भी पाबन्दी होगी. इसके अलावा मुस्लिमों को रमजान के महीने में रोज़ा रखने से भी रोकने का प्रवाधान है और यह कानून को तोड़ने वाले को सजा देने के प्रावधान किया गया है. आपको बता दें कि यह कानून चीन के सिनजियांग राज्य में लागु करने की तैयारी चल रही है. सबसे ज्यादा मुसलमान इसी राज्य में रहते हैं.

आपको बता दें कि बीते दिनों एक रिपोर्ट आई थी, जिसके मुताबिक़, चीन में करीब दस लाख मुसलमानों को शिविर में रखकर उनके साथ अमानवीय सलूक किया जा रहा है और शमर्नाक बात यह है कि चीन की ऐसी हरकत पर विश्व समुदाय चुप्पी साधे बैठे हैं.

ऐसे में अब देखना होगा कि इस पर पाक के पीएम् इमरान खान की क्या प्रतिक्रिया होगी. क्योंकि उन्हें अपने देश की सैन्य क्षमता बढाने और आर्थिक विकास के लिए चीन के सहयोग की ज़रुरत है. लेकिन जब चीन मुसलमानों के साथ ऐसा कर रहा है, तो उनका अगला कदम क्या होगा, यह तो आने वाला वक़्त ही बताएगा.

loading...