धरी कि धरी रह गयी बीजेपी कि तैयारियां, कांग्रेस ने दर्ज की बड़ी जीत, भाजपा के खेमे में दुः!ख का माहोल

loading...

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद अभी भाजपा संभल भी नहीं पाई थी कि इस बीच उसे एक और झटका लगा और बाज़ी कांग्रेस ने मार ली है. दरअसल मौका था सदन के स्पीकर के चुनाव का. बीते कल जैसे जी सदन की सुनवाई शुरू हुई तो प्रोटेम स्पीकर दीपक सक्सेना ने विधायक यशोधरा राजे सिंधिया और मालिनी गौड को शपथ दिलाई. बाद इसके स्पीकर बनाए जाने के सिलसिले में कांग्रेस की तरफ से एनपी प्रजापति का नाम प्रस्तावित किया गया और भारतीय जनता पार्टी ने अपना उम्मीदवार विजय शाह को बनाया.

हालाँकि इस दौरान संसदीय कार्यमंत्री गोविंद सिंह ने इस आपत्ति जताई और कहा कि सबके पहले आया प्रस्ताव ही मान्य होगा और इसके बाद सदन में हंगामा होने लगा लेकिन इस बीच स्पीकर ने ध्वनिमत के आधार पर एनपी प्रजापति को स्पीकर घोषित किया, जिस पर भाजपा बिफर पड़ी और हंगामा और तेज़ हो गया. दरअसल भाजपा की तरफ से स्पीकर का चुनाव वोटिंग के ज़रिये कराने की मांग की जा रही थी, लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ और ध्वनिमत के आधार पर एनपी प्रजापति को स्पीकर घोषित कर दिया गया तो भाजपा वाले हंगामा करने लगे.

बाद इसके हंगामा बढ़ता देख स्पीकर ने सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी. बाद इसके स्पीकर ने जब मत विभाजन का ऐलान किया तो इस दौरान भाजपा सदस्य मौजूद नहीं थी.

उन्होंने वॉकआउट कर दिया था. हालाँकि इस दौरान एनपी प्रजापति को 120 मत मिले और उन्होंने पद ग्रहण कर ली. बताया जा रहा है कि भाजपा ने वोटिंग के लिए काफी तैयारी की थी

लेकिन उसकी सारी तैयारी धरी की धरी रह और कांग्रेस के प्रत्याशी एनपी प्रजापति को स्पीकर बनादिया गया. हालाँकि इस पर मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अपनी नाराज़गी जताई और और इसे लोकतंत्र की ह त्या करार दिया है. इस दौरान फिलहाल मौके को देखते हुए राज भवन के बाहर भारी पुलिस बल तैनात थी.

loading...