भेंसे भरकर ले जा रहा था नौशाद, गौ र*क्षकों ने गुं*डा ग*र्दी के नाम पर बु*री तरह कर दी नौशाद की पि*टाई और…

हरियाणा की बीजेपी हुकूमत में एक-बार फिर गौरक्षकों की ग़ुंडा गर्दी सामने आई है। खबर के मुताबिक़ रोहतक सोनीपत रोड पर भालोठा गावं के पास नाम निहाद गौरक्षकों ने एक मुस्लिम नौजवान की ज़ालिमाना तरीके से पिटाई कर दी। गौरक्षकों का इल्ज़ाम है कि नौशाद नामी यह मुस्लिम नौजवान और गाड़ी ड्राईवर इक़बाल गाड़ी में गायों को भर कर स्मगलिंग के लिए लेकर जा रहे थे।

मिली खबर के मुताबिक़ बस स्टैंड के पास गावं के एक शख्स ने जानवरों से भरी गाड़ी देखी। इस के बाद इस मुक़ामी शख़्स ने गाड़ी में रखे गायों और स्मगलिंग की बात मुक़ामी लोगों को बताई। गाय स्मगलिंग की ख़बर सुनते ही वहां कुछ लोग इकट्ठे हो गए और नाम निहाद गौरक्षकों ने नौशाद को खम्बे से बांध कर बुरी तरह से पिटाई शुरू कर दी। मामले की जानकारी मिलने के बाद मौक़ा पर पहुंची पुलिस ने खम्बे से बंधे नौशाद को गौरक्षकों के चंगुल से छुड़ा कर अपने क़बज़े में ले लिया।

इस पूरे मामले पर नौशाद ने अपनी सफ़ाई पेश करते हुए कहा कि इस के साथ गाय स्मगलिंग के नाम पर ज़ुलम किया गया है जब कि इस में कोई हक़ीक़त नहीं है। उसने गौरक्षकों पर इल्ज़ाम लगाते हुये कहा कि उनसे गाय स्मगलिंग के नाम पर पैसे एठने की कोशिश की गई और उनके साथ मार पीट की गई। जानवरों को ले जाने वाले नौजवान ने ये भी बताया कि गाड़ी में भैंस थी और गाय होने की बात पूरी तरह ग़लत है। नौशाद इस बात से भी मायूस है कि सच्च का पता किए बग़ैर ही पुलिस ने इस के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर लिया है।

गौरतलब है कि मुल्क भर में भीड़ के तशद्दुद यानी मोब लंचिंग के मामले में लगातार इज़ाफ़ा होता जा रहा है। इस तरह के वाक़ियात के ख़िलाफ़ संसद से सड़क तक आवाज़ें भी उठाई गईं लेकिन कोई मुसबत नतीजा सामने नहीं आया है। सुप्रीमकोर्ट ने भी केंद्र और रियास्ती हुकूमतों को हिदायत दी है कि वो जल्द से जल्द इस तरह के मामले पर रोक लगाए। इस के बावजूद केंद्र और बीजेपी हुक्मराँ रियास्तों के सुस्त रवैय्ये के सबब भीड़ का तशद्दुद कम होने का नाम नहीं ले रहा है