यूपी में होगी ओवैसी की धांसू एंट्री, सपा-बसपा गठबंधन के बाद बेर्रिस्टर ओवैसी ने दिया ये बड़ा बयान

देश के विभिन्न राज्यों के क्षेत्रीय दल भी केंद्र की सत्ता में जाने की चाह रखते हैं। माना जा रहा है कि राष्ट्रीय राजनीतिक दलों के लिए इस बार के लोकसभा चुनाव काफी महत्वपूर्ण साबित होने वाले हैं। तेलंगाना विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की तरफ से मैदान में उतरे स्टार प्रचारक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने असदुद्दीन ओवैसी और उनकी पार्टी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन योगी आदित्यनाथ की की थी।

उस दौरान यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि अगर राज्य में बीजेपी की सरकार बनती है तो हैदराबाद के निजाम की तरह ओवैसी भाइयों को भी यहां से मैदान छोड़कर भागना पड़ेगा। अब सीएम योगी आदित्यनाथ के इसी बयान पर असदुद्दीन ओवैसी हैदराबाद के साथ-साथ उत्तर प्रदेश की राजनीति में भी कब्जा करने के बारे में सोच रहे हैं।

उत्तर प्रदेश की राजनीति में उतरेगी ओवैसी की पार्टी

अब खबर सामने आ रही है कि असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी इस बार के लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश का रुख करने वाली है बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन अपने 50 उम्मीदवार उतारने के बारे में विचार कर रही है अगर ऐसा होता है तो भारतीय जनता पार्टी की मुश्किलें काफी बढ़ने वाली है क्योंकि उत्तर प्रदेश में भी ए आई एम आई एम के काफी समर्थक मौजूद है।

पार्टी नेता ने किया ये बड़ा एलान

गौरतलब है कि पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के प्रमुख ने इस बात की पुष्टि की है कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश लोकसभा चुनाव भारतीय जनता पार्टी को मात देने के लिए चुनावी दंगल में उतरेगी। अपने इस बयान में उन्होंने तेलंगाना विधानसभा चुनाव का उदाहरण देते हुए कहा है कि जहां बीजेपी के उम्मीदवार उनके विधायकों के आगे नहीं देख पाए। वहीं उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने गठबंधन करके बीजेपी को मात देने का प्लान बनाया है। अब हमारी पार्टी भी बीजेपी के खिलाफ भी है लोकसभा चुनाव बढ़-चढ़कर लड़ेगी।