प्रियंका को मैदान में उतारने के बाद, राहुल गाँधी ने खेला एक और दाँव, विपक्षियों को सोचोने को किया मजबूर

कॉंग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी बहन को अब पूरी तरह से सियासत में उतार दिया है, प्रियंका गांधी को जहां कॉंग्रेस पार्टी का महासचिव बनाया गया है, वहीं लोकसभा चुनाव में उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश की ज़िमीदारी भी दी गई है, उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश का इंचार्ज बनाया गया है, कहा जा रहा है की आने वाले 4 फरवरी को प्रियंका गांधी कुंभ में गंगा स्नान करके अपनी ज़िम्मेदारी सँभाल लेंगी। वहीं प्रियंका गांधी और कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को महासचिव बना कर उत्तर प्रदेश भेजे जाने के बाद अब कॉंग्रेस उत्तर प्रदेश में मांग उठने लगी है कि प्रदेश में दो अध्यक्ष बनाए जाएँ,

मांग करने वालों का कहना है कि दो मासचि काम काज को एक अध्यक्ष नहीं देख पाएगा, इस लिए उत्तर प्रदेश में दो अध्यक्ष बानए जाने की मांग की गई है, वहीं हो सकता है कि इस मांग को मान लिया जाये, और कॉंग्रेस पार्टी की तरफ से उत्तर प्रदेश में दो अध्यक्ष बना दिये जाएँ। आप को बता दें ई स्वक्त लोकसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने गठबंधन कर लिया है, इस गठबंधन से बहुजन समाज पार्टी की नेता मायवाती ने कॉंग्रेस पार्टी को यह कहते हुये शामिल नहीं किया था कि कॉंग्रेस के वोट हमें शिफ्ट नहीं होते हैं, इस लिए हम कॉंग्रेस के साथ में गठबंधन नहीं कर सकते हैं।

इस गठबंधन के बाद अब कॉंग्रेस पार्टी पूरे दम खम के साथ मैदान में उतरना चाहती है, कॉंग्रेस का मानना है कि इस बार लोकसभा चुनाव में हम बेहतर प्रदर्शन करेंगे।

इसी वजह से उत्तर प्रदेश में दो अध्यक्ष बनाए जाने की मांग उठ रही है,नेताओं का कहना है कि अगर प्रदेश में दो अध्यक्ष हो जाएगे, तो काम काज में आसानी हो जाएगी, इस वक़्त उत्तर प्रदेश कॉंग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अभिनेता से नेता बने राज बब्बर हैं, और वही पूरे प्रदेश का काम देख रहे है।