सच में अद्भुत है दुनिया के ये 7 अजुबे, देखकर आप भी मानेंगे

दोस्तों, दुनिया के सात अजूबे प्राकृतिक और मानव निर्मित संरचनाओं के संकलन है| करीब २२०० साल पहले यूनान के विद्वानों ने दुनिया के सात अजूबों की सूचि तैयार की थी और यही सात अजूबे लगभग २१०० सालों तक दुनिया में बेहद मशहूर रहे थे| मगर साल १९९९ में इन सात अजूबों में अधिकांश के टूट-फुट जाने के कारण इनमे बदलाव की बात चली| इसके बाद साल २००७ में पुर्तगाल की राजधानी लिस्बन में दुनिया के सात अजूबों के नामों की घोषणा की गयी| तो चलिए इन सात अजूबों के बारे में जानते है|

third party reference

कोलोसियम
१७ वी शताब्दी में सम्राट वेस्पेशियन के द्वारा बनाया गया ये विशाल स्टेडियम इटली के रोम में स्थित है| ऐसा बताया जाता है कि इस स्टेडियम में करीब ५० हजार लोग जंगली जानवरों और गुलामों के बीच में लड़ाई का खेल देखा करते थे| इस अद्भुत स्टेडियम की वास्तुकला ऐसी है कि इसकी नक़ल कर पाना लगभग असंभव है|

मच्चू पिच्चू

machu pichu

दक्षिण अमेरिका के देश पेरू में जमीन से करीब २४०० फ़ीट की ऊंचाई पर मच्चु पिच्चू नामक शहर है| इस शहर को १५ वी शताब्दी का बताया गया है| इंका सभ्यता का यह शहर एंडीज पर्वतों के बीच मौजूद है| ऐसा बताया जाता है कि इस जगह पर पहले लोग रहा करते थे और स्पेन के आक्रमणकारी अपने साथ यहाँ चेचक जैसी बीमारियां लेकर आये थे| जिसके चलते धीरे-धीरे यह शहर पूरी तरह से तबाह हो गया था|

क्राइस्ट द रिडीमर
ब्राज़ील के रियो द जनरो में कारको बेडओ नामक पर्वत की चोटी पर जीसस क्राइस्ट की मूर्ती स्थित है| करीब ३२ मीटर ऊंची इस मूर्ती का वजन ७०० टन है| इस मूर्ती का निर्माण साल १९२२ से १९३१ के बीच किया गया था|

ताजमहल
भारत के आगरा में स्थित इस ताजमहल को मुग़ल बादशाह शारजहां ने अपनी बेगम मुमताज की याद में बनाया था| बेपनाह मोहब्बत की निशानी के रूप में पहचान रखने वाले इस ताजमहल को बनाने में करीब २० साल का वक्त लगा था| ताजमहल में बनी शिल्पकारी की कला को बेहद उत्कृष्ट कला माना जाता है|

चिचेन इत्ज़ा
मैक्सिको में स्थित चिचेन इत्ज़ा नामक यह शहर माया सभ्यता के सबसे प्राचीन शहरों में से एक है| इस जगह पर पुलकॉन का पिरामिड, सांप मूल के मंदिर, १००० पिलरों का होल और कैदियों के लिए बनाये गए खेल के मैदान आज भी देखें जा सकते है| यहाँ गोकुल कुंड का पिरामिड स्थित है जो ७९ फ़ीट ऊंचा है, जिसकी चारों दिशाओं में ९१ सीढ़ियां है| इसकी एक सीढ़ी साल के १ दिन का प्रतिक है और पिरामिड के ऊपर बना चबूतरा साल के ३६५ वे दिन का प्रतिक है|

चीन की दीवार
चीन की उत्तरी सीमा पर बनाई गई यह दीवार दुनिया की सबसे लंबी मानव निर्मित दीवार है| चीन की यह दीवार करीब ६५०० किलोमीटर लंबी है और इसकी ऊँचाई ३५ फ़ीट है| यह दीवार चीन को सुरक्षा देती है| इस दीवार का निर्माण पांचवी सदी में शुरू हुआ और करीब सोलहवीं सदी तक जारी रहा था|

जॉर्डन का पेट्रा
पश्चिमी एशिया के जॉर्डन में स्थित पेट्रा नामक यह शहर एक ऐतिहासिक शहर है| लाल बलुआ पत्थरों से बनी इमारतों की वजह से ये बेहद प्रसिद्ध है| यहाँ मौजूद इमारतों में १३८ फुट ऊंचा मंदिर, ओपन स्टेडियम, तालाब, नहर आदि शामिल है| इन इमारतों पर बनी हुई नकाशी बेहद ही खूबसूरत है|

दोस्तों, आपके हिसाब से इन सात अजूबों में ऐसी कौन सा अजूबा है जो इस लिस्ट में शामिल नहीं होना चाहिए था और आपकी नज़र में वो कौन सी जगह है जिसे इन ७ अजूबों में होना चाहिए था|