हर जगह भाजपा की बुरी हार देखकर इस दिग्गज महिला नेता ने मारी भाजपा को लात, ये पार्टी करेगी ज्वाइन

देशभर में अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी के बुरे दिन शुरू हो चुके हैं। एक के बाद एक बीजेपी के लिए कई बुरी खबरें सामने आ चुकी है और लगातार यह सिलसिला जारी है। हाल ही में खबर सामने आई है कि उत्तर प्रदेश के बहराइच से सांसद सावित्री बाई फुले ने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया है। उनका कहना है कि बीजेपी ने साल 2014 में देश के दलितों के लिए काम करने का दावा किया था।

लेकिन उन्होंने दलितों ने साथ जिस तरह का दोगला बर्ताव किया है। उससे दलित और बहुजन समाज के लोग त्रस्त है। हाल ही में बीजेपी से इस्तीफा दे चुकी सावित्रिभाई फुले ने कहा है कि बीजेपी के तलवे चाटने वाली नहीं है। वह दलित और बहुजन समाज के लोगों की भलाई करने के लिए काम करना चाहती है।

बहुजन समाज के दुश्मनों को सिखाएंगी सबक


बीजेपी शासित उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मीडिया से बातचीत करते हुए सावित्रीबाई फुले ने कहा है कि वह बहुजन समाज की भलाई करने के लिए सख्त कदम उठाएंगी और जिन्होंने बहुजन समाज को तंग किया है उन्हें किसी भी हद तक जाकर जवाब देंगी।

संविधान के साथ छेड़छाड़ कर रही बीजेपी


सावित्रीबाई फुले का कहना है की वह देश में आरक्षण और दलित अधिकारों को बचाने के लिए लगातार प्रयासरत है। अगर आरक्षण बना रहता है तो मुझे सांसद बनने से कोई नहीं रोक सकता।

इसके साथ ही सावित्रीबाई फुले ने केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार को संविधान निर्माता डॉ बी आर अंबेडकर द्वारा बनाए गए संविधान को बदलने और दलितों के अधिकारों को खत्म करने के लिए आरक्षण को खत्म करने का आरोप लगाया है।

आरक्षण के लिए सालों से लड़ रही लड़ाई


उनका कहना है कि जब से वह चुनाव जीती है तभी से ही पार्टी उनको दबाने की कोशिश कर रही है। बीजेपी शासित राज्यों में संविधान की प्रतियां जलाई जा रही हैं।

लेकिन इस मामले में मोदी सरकार कोई कदम नहीं उठा रही है। सावित्रीबाई फुले ने यह भी कहा है कि वह बीते कई सालों से संविधान में दिए गए आरक्षण को पूरी तरह से लागू करवाने के लिए लड़ाई लड़ रही हैं।