कांग्रेस संघटन में अब तक का सबसे बड़ा फेरबदल, राहुल गाँधी ने लिए अहम् फैसले, पढ़ें

loading...

इस वक्त कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी यूनाइटेड अरब अमीरात के दो दिवसीय दौरे पर गए हुए हैं। लेकिन इस दौरे से पहले उन्होंने पार्टी को लेकर कई बड़े बदलाव किए हैं। जिन्होंने सियासी गलियारों में चर्चा का विषय खड़ा कर दिया है। आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली के नए पार्टी अध्यक्ष की घोषणा कर दी है। पार्टी हाईकमान ने दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित को एक बार फिर प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी सौंपी हैं। आपको बता दें कि हाल ही में कांग्रेस नेता अजय माकन ने दिल्ली के कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था। जिसके पीछे उनका स्वास्थ्य ठीक ना रहने को एक बड़ी वजह बताया गया था।

कांग्रेस नेता अजय माकन के इस्तीफे के बाद से ही यह चर्चा हो रही थी कि दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाएगा। खबर के मुताबिक शीला दीक्षित के अलावा हारून यूसुफ, राजेश लिलोठिया, देवेंद्र यादव को वर्किंग अध्यक्ष बनाया गया है। इस मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित ने प्रदेश अध्यक्ष का पद संभालते हुए कहा है कि वह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस फैसले से बहुत ही सम्मानित महसूस कर रही हैं की पार्टी ने उन्हें यह मौका दिया है।

loading...

कहा- मैं पार्टी की शुक्रगुज़ार हूँ

इस जिम्मेदारी के लिए मैं पार्टी की बहुत शुक्रगुजार हूं। अपनी उम्र पर मैं किसी भी तरह का कोई कमेंट नहीं करूंगी गठबंधन पर कोई कमेंट नहीं करूंगी। पार्टी एलाइंस जब फाइनल हो जाएगा तब ही इस मामले में बात की जाएगी। अभी तो मीडिया में यह सिर्फ खबरें ही चलाई जा रही है।

आपको बता दें कि शीला दीक्षित कांग्रेस की एक वरिष्ठ नेता है जो कि साल 1998 से लेकर 2013 तक लगातार दिल्ली की 15 साल मुख्यमंत्री बनी रहे इसके अलावा वह साल 2014 में केरल की राज्यपाल भी रही है

loading...