क्या स्मृति ईरानी ने उठाये थे राहुल गाँधी की मर्दानगी पर सवाल ? जाने वायरल खबर की सच्चाई

loading...

में केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी अक्सर अपने बयान को लेकर चर्चा में रहती हैं. यूँ तो सरकार बनने के बाद उन्हें मानव संसाधन जैसा अहम मंत्रालय दिया गया था लेकिन उस दौरान उनके लेकर हर रोज़ होते नए नए विवाद के बाद उन्हें वहां से हटा दिया गया और सौंपा गया कपड़ा मंत्रालय. हालाँकि यहाँ भी वह कम विवादों में नहीं रहती हैं. बहरहाल, इन दिनों उनके एक बयान की हर तरफ चर्चा हो रही है, जिसमे उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी की मर्दानगी पर बयान दे डाला. दरअसल मामला कुछ यूँ है कि मशहूर अखबार और अपनी हेडलाइन्स को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले ‘द टेलीग्राफ’ ने एक खबर छपी, जिसका शीर्षक कुछ यूँ था कि स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी की ‘मर्दानगी’ पर उठाए सवाल.

खबर में यह था कि स्मृति इरानी ने राहुल गाँधी की मर्दानगी पर सवाल उठाते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मर्दानगी की तारीफ की है. आपको बता दें कि अपने इस बयान में स्मृति इरानी ने राहुल गाँधी और अमित शाह की मर्दानगी के बेच तुलना किया था. अखबार के मुताबिक़, स्मृति इरानी ने अपने बयान में कहा कि अमित शाह भाजपा अध्यक्ष अपने पुरुषार्थ से बने हैं जबकि राहुल गाँधी कांग्रेस के अध्यक्ष अपनी माँ की वजह से बने हैं. हालाँकि अख़बार की इस खबर पर मिली जुली प्रतिक्रिया सामने आ रही है.

loading...


कुछ लोग ऐसे बयान के लिए स्मृति इरानी पर निशाना साध रहे हैं और लोगों का कहना है कि एक महिला होकर स्मृति इरानी का मर्दानगी पर बात करना शमर्नाक है.


वहीँ कुछ यूजर्स का यह भी कहना है कि अखबार ने स्मृति ईरानी के बयान का गतल अनुवाद किया है.


भाजपा समर्थित यूजर्स का कहना है कि पुरुषार्थ का मतलब मेहनत से होता है और स्मृति ईरानी का कहने का मतलब था कि अमित शाह भाजपा के अध्यक्ष अपनी मेहनत से बने हैं.

loading...