4 पन्नो का सु*साइड नो*ट लिखकर लगा ली फां*सी, सु*साइड नो*ट में मो*दी के बारे में लिखा, पढ़ें पत्र

loading...

याद कीजिए साल 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार को जब भारतीय जनता पार्टी ने इस नारे के साथ लोगों को यह भरोसा दिलाया था कि जल्द ही देश के अच्छे दिन आने वाले हैं और लोगों के अच्छे दिन आने वाले हैं। लेकिन ना तो देश के अच्छे दिन आए और ना ही भारत की जनता के। इस वक्त हालात यह है कि जनता मोदी सरकार के जुमलों और झूठे वादों से त्र!स्त होकर उन्ही के बुरे दि!न लाने का मन बना चुकी है। अब खबर सामने आ रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अच्छे दिन के नारे से परेशान होकर उत्तर प्रदेश की एक महिला ने खुद!कुशी कर ली है। खबर के मुताबिक आगरा के ताजगंज क्षेत्र में महिला ने आ!त्महत्या करने से पहले 4 पन्नों का सु!साइड नो!ट लिखा है। जिसमें इस महिला ने अपने द!र्द बयान किया है। आपको बता दें कि इस सु!साइड नोट में महिला ने आ!त्महत्या के लिए अपने भाई को जिम्मेदार ठहराया है।

मोदी सरकार के अ!च्छे दिनों पर उठाया सवाल
दरअसल महिला के भाई ने उसके प!ति के नाम पर लोन लेकर मोबाइल की ईएमआई जमा कराने से इनकार कर दिया था जिसके चलते म!हिला काफी परेशान हो गई थी और उसने आ!त्महत्या कर ली लेकिन इस दौरान म!हिला ने मोदी सरकार को भी घेरा है। उसने सु!साइड नो!ट में अच्छे दिन सहित उन सभी बातों का जिक्र किया है। जो पीएम मोदी ने जनता से किए थे।

loading...

पीएम मोदी से पूछा- अच्छे दिन आ गए ?
महिला ने सु!साइड लिखा है कि मोदी जी बताइए क्या अच्छे दिन आ गए हैं पहले तो लोगों को लो!न लेने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ती है। आपने ट्रेनिंग सेंटर खोले। मैंने भी खं!दौली से 800 रुपये देकर ट्रेनिंग ली थी।

कोर्स के बाद सर्टिफिकेट मिलेगा, जिससे लो!न मिल जाएगा, लेकिन वहां से कुछ भी नहीं हुआ। हम जैसे लोगों को कोई लोन नहीं देता है। अब जाकर जैसे तैसे लोन मिला। दुकान खोली तो अपने आ गए छीनने के लिए।

loading...