Kerala Rajyapal RSS ke chamche
Kerala Rajyapal RSS ke chamche

सोमवार को केरल के राज्यपाल पी सदाशिवम् का विधानसभा में दिया गया अभिभाषण विवादों के घेरे में आ गया है। राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में मोदी सरकार और आरएसएस की आलोचना वाली लाइन को नही पढ़ा। जिसके बाद सत्ता पक्ष और कांग्रेस ने राज्यपाल पर केंद्र सरकार को ख़ुश करने का आरोप लगाया। जबकि भाजपा ने राज्यपाल का बचाव किया।

सोमवार को राज्यपाल, केरल विधानसभा के संयुक्त सत्र को सम्बोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने केरल सरकार की उपलब्धियो को गिनाते कहा,’देश में बेहतरीन कानून व व्यवस्था वाले इस राज्य के खिलाफ कुछ संप्रादायिक ताकतों ने फर्जी आधार पर पूरे भारत में एक माह तक अभियान चलाया। संयुक्त राष्ट्र ने केरल को देश का एकमात्र ऐसा राज्य घोषित किया है, जहां मानव विकास सूचकांक सबसे ज्यादा है।’

Download Our Android App Online Hindi News

सदाशिवम ने आगे कहा, ‘हमारे सामाजिक क्षेत्र की उपलब्धियों पर सवाल उठाए गए, कानून व व्यवस्था की स्थिति का तिरस्कार किया गया। इसके बावजूद केरल के लोग हमारी परंपराओं और उपलब्ध्यिों की रक्षा के लिए एक साथ खड़े हुए। कुछ सांप्रदायिक ताकतों की ओर से कोशिश के बावजूद राज्य में सांप्रदायिक दंगे नहीं हुए।’ राज्यपाल के क़रीब 89 मिनट के भाषण के बाद इसकी प्रतियाँ बाँटी गयी।

जब ये प्रतियाँ विधायकों के पास पहुँची तो वह यह देखकर हैरान रह गए की राज्यपाल ने उन तीन लाइन को नही पढ़ा जिनमे मोदी सरकार और आरएसएस की आलोचना की गयी थी। इस पर वह सत्ता पक्ष एवं कांग्रेस के निशाने पर आ गए। वही भाजपा ने उनका यह कहकर बचाव किया की उन्होंने अपनी विवकाधीन शक्तियों का इस्तेमाल किया है। मालूम हो कि पी सदाशिवम् , सप्रीम कोर्ट के जज भी रह चुके है।

1 COMMENT

  1. प्रतिस्पॆधा
    ————-
    देखता हैं जब इंसान , इंसान को आगे
    शुरू होती हैं कोशिश , निकलने की आगे !!

    ———————-‘—-

    कोशिश
    –”””””””’
    कोशिश करने वालो की कभी हार नही होती !
    ईमानदारी से की गई मेहनत बेकार नही होती !!

    —अनवर हुसैन अणु भागलपुरी

    —-”””””’———————”

    उड़ान

    चाहत उड़ने की , खुद में ईक कोशिश हैं
    उड़ गया जो , वो खुद में ईक मोआजिज हैं !

    अनवर हुसैन अणु भागलपुरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here