Yogi govt encounter expose audio

Yogi govt encounter expose audio

उत्तर-प्रदेश में अपराधियों का सफाया करने केलिए योगी सरकार के राज में ताबड़तोड़ एनकाउंटर जारी हैं।  वही यूपी एनकाउंटर से जुडी एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने से यूपी में एनकाउंटर के नाम पर चल रहे खेल को बेनकाब कर दिया है। दरअसल, वायरल ऑडियो में एक कुख्यात अपराधी और पुलिस अधिकारी के बीच की कथित बातचीत से एंकाउंटर के नाम पर खाकी और गुंडों के बीच साठगांठ का पर्दाफाश हो गया है।

Download Our Android App Online Hindi News

जनता का रिपोर्टर की के मुताबिक, सोशल मीडिया पर वायरल ऑडियो क्लिप झांसी के मऊरानीपुर थाना प्रभारी (एसएचओ) सुनीत कुमार और कुख्यात हिस्ट्रीशीटर लेखराज सिंह यादव के बीच की बातचीत का है। वायरल ऑडियो में पुलिस अधिकारी हिस्ट्रीशीटर को एनकाउंटर से बचने का रास्ता बता रहा है।

इस ऑडियो क्लिप में हिस्ट्रीशीटर को एनकाउंटर से बचने के लिए SHO सुनीत कुमार बीजेपी जिलाध्यक्ष संजय दुबे और बबीना से बीजेपी विधायक राजीव सिंह परीछा को मैनेज करने की सलाह दे रहा है। इस वायरल ऑडियो में झांसी के मऊरानीपुर थाने के प्रभारी सुनीत कुमार और लेखराज के बीच जो बातें हो रही हैं वो पुलिस, राजनीति और अपराधियों के बीच के गंदे साठगांठ का पर्दाफाश करती हैं।

ऑडियो सामने आने के बाद इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया गया है। निलंबित पुलिस का इंस्पेक्टर का नाम सुनीत कुमार है जो हत्या, अपहरण और जबरन वसूली के कई मामलों के अपराधी लेखराज यादव को सलाह दे रहा है कि वो बीजेपी के विधायक और पार्टी के जिला अध्यक्ष से मिल कर मामला निपटा ले। लेखराज ने ये बातचीत शुक्रवार को रिकॉर्ड की, इसके कुछ ही देर बाद एक मुठभेड़ भी हुई पर लेखराज भागने में कामयाब रहा, जिसके बाद उसने ये रिकॉर्डिंग पत्रकारों तक पहुंचाई है। ‘जनता का रिपोर्टर’ इस ऑडियो की प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं करता है।

Yogi govt encounter expose audio

जनता का रिपोर्टर की खबर के मुताबिक, दोनों के बीच बातचीत का ब्यौरा-

अपराधी लेखराज यादव पुलिस अधिकारी सुनीत कुमार सिंह से मदद की गुहार लगा रहा है। जिस पर इंस्पेक्टर सुनीत कुमार सिंह अपराधी को सलाह दे रहा है कि आप मेरी मजबूरी समझिए…मैंने आपको बता दिया कि संजय दुबे ज़िला अध्यक्ष, राजीव सिंह परीछा- दो आदमियों को मैनज करिए।

पुलिस अधिकारी अपराधी से कहता है कि उसके ऊपर 60 से अधिक मुकदमे हैं और वह एनकाउंटर के लिए सबसे फिट केस है और यूपी पुलिस के हत्थे चढ़े तो दो मिनट में सबको पट-पट मार दिया जाएगा। इंस्पेक्टर आगे कहता है कि पिछले 14 साल में भाजपा से पहले कितने एनकाउंटर हुए ज़िले, प्रदेश भर में? नहीं हुए… बसपा आई, सपा आई सब। अब सिस्टम चल रहा है।

आप समझ ही नहीं रहे कोई चीज़ को। दौर है…. अब दौर तो दौर ही होता है ना सर..अब सिस्टम ऊपर से है…. यहां नीचे ऊपर सब एसटीएफ़ भी है…. सब लगे हैं पूरी टीम है…. आपकी लोकेशन ट्रेस आउट हो रही है और 10-20-50 आदमी भी अगर आपके साथ होंगे तो कोई बड़ी बात नहीं है।

इंस्पेक्टर सुनीत कुमार सिंह कहता है कि जो भी मामला है उसे देख दिखाकर, जो भी कर सकते हो जैसे भी मैनेज कर लो। इसके अलावा पुलिस अधिकारी ने कहा कि अब सरकार के हिसाब से सिस्टम को देखते हुए अपना काम कीजिए।पुलिस अधिकारी यह सलाह देना नहीं भूलता कि राज्य में किस पार्टी की सरकार है और एनकाउंटर से बचने के लिए बदमाशों को किस पार्टी के लोगों को खुश करना होगा।

वायरल ऑडियो-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here