शाह झूठ बोल रहे हैं, UPA सरकार ने 80 हजार बांग्लादेशियों को लौटाया: कांग्रेस

कांग्रेस ने अवैध प्रवासियों को देश से बाहर भेजने के अमित शाह के दावे को झूठ का पुलिंदा बताया है और उनसे गलतबयानी के लिए माफी मांगने को कहा.

कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि 2005 से 2013 के दरम्यान यूपीए सरकार ने 82,728 बांग्लादेशियों को प्रत्यर्पित किया, जबकि मोदी सरकार के पिछले चार साल में मात्र 1,822 लोगों को लौटाया गया है. सुरजेवाला ने एनआरसी को भी कांग्रेस का ‘विचार’ बताया.

सुरजेवाला ने प्रत्यर्पण से जुड़े आंकड़े बताने के लिए राज्यसभा में केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से दिए गए जवाबों का हवाला दिया. साल 2008, 2016 और 2018 में भारत से कितने विदेशी वापस भेजे गए, इस बाबत राज्यसभा में तीन अलग-अलग प्रश्न पूछे गए थे.

उसके जवाब में बताया गया था कि 2005-2013 के बीच (यूपीए सरकार के दौरान) 88,792 बांग्लादेशी नागरिक वापस भेजे गए, जबकि 2014 से 2017 के बीच 1,822 बांग्लादेशियों को बैरंग लौटाया गया. इस दौरान एनडीए की सरकार थी.

Congress says UPA deported more than 80000 bangladeshis NDA just 1822 in 4 years
Congress says UPA deported more than 80000 bangladeshis NDA just 1822 in 4 years

‘मई 2016 तक तरुण गोगोई सरकार ने NRC के 80% काम पूरा कर लिया था’

इससे पहले शनिवार को दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में सुरजेवाला ने कहा, ‘मई 2016 तक असम में तरुण गोगोई की सरकार ने एनआरसी के 80 प्रतिशत काम पूरा कर लिया था. कांग्रेस असम करार से पूरी तरह जुड़ी हुई है लेकिन इस प्रक्रिया से 40 लाख लोग बाहर रह गए. इसमें हिन्दू बंगाली हैं, सेना के लोग हैं, दूसरे राज्यों के लोगों के नाम भी हैं.’

उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस का यह भी मानना है कि हर भारतीय नागरिक को अपनी नागरिकता साबित करने का भरपूर मौका मिलना चाहिए.’ सुरजेवाला ने आरोप लगाया, ‘बीजेपी पूरी प्रक्रिया को सामाजिक तानेबाने को तोड़ने के लिए इस्तेमाल कर रही है. इसका कारण है कि मोदी सरकार अपनी नाकामियों से देश का ध्यान भटकाना चाहती है.

Source: hindi.firstpost.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *