ट्रिपल तलाक बिल पर मोदी सरकार को झटका, राज्यसभा में नहीं हो पाया पेश

आगामी लोकसभा चुनाव के चलते ट्रिपल तलाक बिल को राज्यसभा में पारित कराने मे जुटी मोदी सरकार को बड़ा झटका लगा है। कैबिनेट की और से तीन संशोधनों को मंजूरी के बाद भी बिल आज राज्यसभा में पेश नहीं हो पाया।

शुक्रवार को राज्यसभा के चेयरमैन वेंकैया नायडू ने कहा कि बिल पर सदन में एकता नहीं है इसलिए इसे आज नहीं रखा जाएगा। क्योंकि इस पर आम सहमति नहीं बन पाई है। माना जा रहा है कि अब इसे शीतकालीन सत्र में पेश किया जाएगा। हालांकि सरकार के पास इस पर अध्यादेश लाने का भी विकल्प है।

मॉनसून सत्र के आखिरी दिन कांग्रेस सदस्यों के हंगामे के कारण राज्यसभा की कार्यवाही दो बार स्थगित करनी पड़ी। 2.30 बजे जब राज्यसभा की कार्यवाही फिर शुरू हुई तो सभापति ने साफ कर दिया कि इस बिल को आज नहींं लिया जाएगा। संसद के मॉनसून सत्र का आज आखिरी दिन है, ऐसे में सरकार द्वारा इसी सत्र में तीन तलाक बिल को पास कराने की मंशा अधूरी रह गई।

बता दें कि मोदी कैबिनेट ने जो तीन तलाक संशोधन बिल को मंजूरी दी है, उसके मुताबिक ये तय किया गया है कि संशोधित बिल में दोषी को ज़मानत देने का अधिकार मेजिस्ट्रेट के पास होगा और कोर्ट की इजाज़त से समझौते का प्रावधान भी होगा।

तीन तलाक बिल पर यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने कहा कि हमारी पार्टी की स्थिति बिल को लेकर एकदम साफ है। मैं इस बारे में और कुछ अभी नहीं कहना चाहूंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *