भारतीय घरेलू महिलाओं के लिए बड़ी खुशख़बरी, घर बैठे मिलेंगे 20 हजार रूपये जाने कैसे

लोकसभा 2019 का चुनाव अगले कुछ महीनों में हम जानते हैं कि हमारे भारत में वोट बैंक की राजनीति बहुत ज्यादा ही होती है। हमारा ही है हमेशा की तरह इस बार भी जो जो चुनाव नजदीक आ रहा है। राजनीतिक पार्टी अपने अपने तरीके से जनता को खुश करने में लगी है।

मोदी सरकार की नई योजना

उनको तरह तरह से निभाने में जुटी है जिससे एक बड़ा दल उनके साथ जुड़े और 2019 में उनको विजई बनाएं इसी क्रम में भारतीय जनता पार्टी भी एक बार फिर से जनता को लुभाने की कोशिश में लग चुकी है जैसा कि 2014 में भी बीजेपी की अपनी एक लहर थी उसमें खासकर मोदी लहर थी मोदी के भाषण और लुभावने योजनाओं से निश्चित ही जनता उनके साथी और बहुत ही उत्साहित तरीके से उनको अपने देश का प्रधानमंत्री चुना था।

गरीब महिलाओं के लिए सौगात

लेकिन 2014 के बाद जब 2019 में उनका कार्यकाल खत्म होने को है पर एक बार फिर से देश के प्रधानमंत्री का चुनाव होना है तो इस बार 2014 की भाँति 2019 के चुनाव में लोग मोदी सरकार के लिए इतने उत्साहित नहीं हैं। हमने पहले ही देखा था कि मोदी सरकार महिलाओं और बालिकाओं के लिए बहुत ही ज्यादा योजनाएं बनाई है वैसे तो बहुत सारी योजनाएं ऐसी हैं जिन पर अभी कोई काम नहीं हुआ है लेकिन फिर भी एक बार फिर से मोदी सरकार ने गरीब और कम पढ़ी लिखी महिलाओं के लिए एक नई योजना लाने को तैयार है।

महिलाओं की आत्मनिर्भरता के लिए योजना

ऐसी महिलाएं जो कक्षा 10 तक पढ़ाई की है और बुनियादी तौर पर अंग्रेजी भाषा की नॉलेज है उनके लिए अब गांव में सर्विस सेंटर खोलने की तैयारी में है जिसमें उनका पंजीकरण आधार कार्ड के द्वारा वैरिफाई होगा और यह पंजीकरण ऑनलाइन होगा जिसका आवेदन सीएमपी की वेबसाइट पर किया जाएगा। जो महिलाएं इस योजना का लाभ उठाएंगे उनको सरकार बीस हजार भी देगी।

माना जा रहा वोटबैंक बढ़ाने की रणनीति

चुनाव के पहले ऐसी योजनाओं कल आना निश्चित यह बात का संकेत है कि या केवल और केवल वोट बैंक की राजनीति है और महिलाओं को खुश करने के लिए तथा उनकी भावनाओं का फायदा उठाने के लिए इस योजना को की शुरुआत की जा रही है ।गौरतलब है कि आने वाले महीने में कुछ ही महीनों में सरकार के 5 साल पूरे हो जाएंगे ।निश्चित या देखने वाली बात होगी कि क्या एक बार फिर से भाजपा सरकार को केंद्र में अपनी सरकार बनाने का मौका ऐसी योजनाओं से मिलेगा या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *