असम के भाजपा मुख्यमंत्री को कांग्रेस का बड़ा ऑफर, भाजपा को लग सकता है तगड़ा झटका, पढ़ें

loading...

असम में इस वक़्त नागरिकता बिल को लेकर बवाल चल रहा है, और वहाँ पर सियासी उथल पथल जारी है, जब से इस बिल को लेकर आया गया है, उस वक़्त से असम से लेकर दिल्ली तक लगातार चर्चा चल रही है, और इस बिल के खिलाफ लोग सुप्रीमकोर्ट भी चले गए हैं। अब इसी बीच एक बड़ी खबर आ रही है। असम कॉंग्रेस के नेता देबब्रत सैकिया ने एक बयान देकर नई बहस छेड़ दी है, उन्होने असम के मुख्यमंत्री को पेशकश की है कि वह भाजपा को छोड़ कर कॉंग्रेस में आ जाएँ, और हम दूबारा उन्हें मुख्यमंत्री बना देंगे।

कॉंग्रेस नेता का कहना है कि इस वक़्त हालत ऐसे हो चुके हैं, कि उन्हें भाजपा में नहीं रहना चाहिए, और अपने तमाम विधायकों को लेकर कॉंग्रेस में आ जाएँ।फिर हम मिलकर असम में सरकार बना लेंगे। दूसरी तरफ असम गण परिषद का भी एक बयान आया है, असम गण परिषद का कहना है कि अगर नागरिकता संशोधन विधेयक रद्द होता है तो वह भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन बहाल करने के बारे में विचार कर सकती है। क्योंकि वह नहीं चाहते हैं कि नागरिकता संशोधन विधेयक रद्द किया जाये।

loading...

असम कॉंग्रेस के नेता देबब्रत सैकिया ने असम के एक न्यूज़ चैनल से बात चीत के दौरान कहा है कि इस वक़्त प्रदेश में नागरिकता संधोधन विधेयक की वजह से विरोध प्रदर्शन बढ़ रहा है, जिस की वजह से प्रदेश के हालत ठीक नहीं हैं। उन्होने कहा है कि हम चाहते हैं कि मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल भारतीय जनता पार्टी को छोड़ कर हमारे साथ आ जाएं,उसके बाद हम उन्हें दूबारा मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बिठा देंगे।

और प्रदेश के हालत मिल कर ठीक कर लेंगे। असम कॉंग्रेस के नेता देबब्रत सैकिया ने कहा है कि अगर वह ऐसा करते हैं तो हम अपने 25 विधायकों के समर्थन से दूबारा सरकार बना लेंगे। और भी अपनी कुर्सी पर बैठे रहेंगे।

loading...