पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों पर बोले ओवैसी – मोदी सरकार ने सबकी जिंदगी में भर दिया अंधेरा

Owaisi on the rising prices of Petrol and Diesel

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (आईएमआईएम) अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि मोदी सरकार ने सबकी जिंदगी में अंधेरा भर दिया है।

उन्होने कहा कि मैं पीएम मोदी से कहना चाहता हूं कि उन्होंने हमेशा एक अंधेरे में रखने का माहौल बनाया है यह दिखाने के लिए कि पेट्रोल और डीजल के दाम आम आदमी की पहुंचे से बाहर है। उन्होंने आगे कहा कि उन्होंने किए गए वादों को पूरा नहीं करके अंधेरा बनाया है। आगे कहा कि हम प्रकाश हैं, विरोधी अंधेरा है।

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए ओवैसी ने कहा कि ये समझ के बाहर है कि सिर से लेकर पांव तक भ्रष्टाचार के मामलों में डूबे कांग्रेसी नेता नैतिकता की बात करते हैं। पिछले चार वर्षों में केंद्र सरकार न केवल घरेलू बल्कि विदेशी मोर्चे पर कामयाब रही है।

बता दें कि शुक्रवार को पेट्रोल के दाम में 28 पैसे का इजाफा हुआ है। वहीं डीजल की कीमत भी 22 पैसे प्रति लीटर के हिसाब से बढ़ गई है। दिल्ली में शुक्रवार को पेट्रोल की नई कीमत 81.28 तो डीजल की कीमत 73.30 रुपए पहुंच गई।

तेलंगाना विधानसभा चुनाव: ओवैसी की पार्टी AIMIM ने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की!

Owaisi party AIMIM released the first list of candidates

असदुद्दीन ओवैसी की अगुवाई वाली ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) ने तेलंगाना में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव के लिए सात प्रत्याशियों की अपनी पहली सूची मंगलवार को जारी कर दी।

एआईएमआईएम की एक विज्ञप्ति के मुताबिक, ओवैसी के छोटे भाई अकबरूद्दीन आवैसी हैदराबाद में चंद्रयानगुट्टा विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी होंगे।

घोषित किये गये अन्य प्रत्याशियों में सैयद अहमद पाशा कादरी (याकूतपुरा), मुमताज अहमद खान (चारमीनार), मोहम्मद मोअजम खान (बहादुरपुरा), अहमद बिन अब्दुल्ला बलाला (मलकपेट), जफर हुसैन मेराज (नामपल्ली) और कौसर मोइनुद्दीन (कारवां) शामिल हैं।

पिछले सप्ताह भंग किये गये तेलंगाना विधानसभा में एआईएमआईएम के सात विधायक थे। राज्य विधानसभा का चुनाव अगले साल लोकसभा चुनाव के साथ कराया जाना था।

हालांकि, टीआरएस सरकार की सिफारिश के तहत विधानसभा भंग कर दिया गया जिसके कारण निर्धारित समय से पूर्व चुनाव कराया जाना जरूरी हो गया है।

 

Source: hindi.siasat.com

PM मोदी ने फिर अलापा तीन तलाक का राग तो औवेसी ने पूछा तीखा सवाल, ‘क्या अखलाक, पहलू की पत्नि को न्याय मिलेगा?’

Asaduddin Owaisi question on PM Modi for triple talaq

नई दिल्ली – ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलिमीन (AIMIM) के प्रमुख बैरिस्टर असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर मुस्लिम महिलाओं के प्रति नाइंसाफ को लेकर निशाना साधा है. दरअसल पीएम मोदी द्वारा मन की बात कार्यक्रम में मुस्लिम महिलाओं के हक और न्याय को लेकर की गई टिप्पणी का जवाब दिया.

औवेसी ने ट्वीट कर लिखा कि ‘मिस्टर पीएम आपका बिल (तीन तलाक बिल) संविधान के मौलिक अधिकारों और महिलाओं के खिलाफ है, आप अपने वैचारिक संगठनों रोक पाने में अक्षम हैं जिनकी वजह से गाय के नाम पर मुस्लिम महिलाओं ने अपने पति और बेटों खोए हैं. क्या आप अखलाक और पहलू खान की पत्नी, जुनैद की मां के साथ खड़े हैं.‘

बता दें कि मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा था कि तीन तलाक बिल लोकसभा से पास हो गया है लेकिन राज्यसभा से पास नहीं हो पाया. लेकिन वे मुस्लिम महिलाओं को भरोसा दिलाना चाहते हैं कि पूरा देश उनके साथ खड़ा है और वे सुनिश्चित करेंगे कि उन्हें न्याय मिले.

उल्लेखनीय है कि मन की बात कार्यक्रम के 47वें संस्करण में पीएम मोदी ने सभी देशवासियों को रक्षाबन्धन एवं जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं दी. प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात में केरल में आई त्रासदी को करते हुए वहां के लोगों को विश्वास दिलाया कि उनके साथ पूरे देश के लोग खड़े हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि जीवन की जो क्षति हुई है, उसकी भरपाई तो नहीं हो सकती लेकिन वे शोक-संतप्त परिवारों को विश्वास दिलाना चाहते हैं कि सवा-सौ करोड़ भारतीय दुःख की इस घड़ी में उनके साथ कन्धे से कन्धा मिलाकर खड़े हैं.

ओवैसी ने दिये केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए 16 लाख, दवाइयां भी भेजे जाने का ऐलान

BJP spent a lot of money for branding

हैदराबाद : एआईएमआईएम ने केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए वित्तीय सहायता की घोषणा की है। एआईएमआईएम के अध्यक्ष और हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने रविवार को बाढ़ पीड़ितों के लिए 16 लाख रुपए की मदद की बात कहीं। उन्होने दवाइयां भी भेजे जाने का ऐलान किया।

ओवैसी ने ट्वीट में बताया कि मजलिस चैरिटेबल ट्रस्ट के जरिए केरल बाढ़ पीड़ितों को 16 लाख रुपये दिया जाएगा। यह राशि सोमवार को केरल मुख्यमंत्री सहायता निधि में जमा कर दिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि इस राशि के अलावा 10 लाख रुपये के दवाइयां भी भेज दी जाएगी। उन्होंने लिखा है हर एक व्यक्ति केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आना चाहिये।

दूसरी और केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए हैदराबाद में रह रहे केरलवासियों ने भी मदद का हाथ बढ़ाया है। केरलवासियों ने रविवार को रवींद्र भारती में एक राहत शिविर लगाया। इस राहत शिविर में हैदराबाद में रह रहे मलयाली भाषियों के अलावा हैदराबाद के लोगों ने भी अपनी इच्छानुसार मदद के लिए आगे आये।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कल केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए 25 करोड़ रुपये देने की घोषण की थी। इसी घोषणा के तहत गृहमंत्री नायनी नरसिम्हा रेड्डी ने आज केरल गये और मुख्यमंत्री विजयन को तेलंगाना सरकार की ओर चेक सौंप दिया।

औवेसी का PM मोदी को चैलेंज, ‘इधर आ सितमगर हुनर आजमाऐं, तू तीर आजमा हम जिगर आजमाऐं’

नई दिल्ली – एक तरफ जहां मॉब लिंचिंग की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रहीं हैं तो दूसरी तरफ हालत ये है कि नेता कुछ इस तरह के बयानबाजी कर रहे हैं जो इस तरह की हिंसा करने वालों के हौसले बढ़ाते हैं. कुछ इसी तरह का बयान राजस्थान सरकार में मंत्री जयंत यादव का आया है. उन्होंने कहा कि मुसलमानों को चाहिये कि वो हिन्दू समाज की धार्मिक भावनाओं को समझें, अगर वो ऐसा कर पाएंगे तो मॉब लिंचिंग अपने आप बंद हो जायेगी. उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज को ये व्यापार ही बंद कर देना चाहिए.

Muslim leader Owaisi
Muslim leader Owaisi

उनके इस बयान की राजनीतिक और सामाजिक गलियारे में निंदा हो रही है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि जिन लोगों ने हिंसा की है उन पर सख्त कार्रावाई होनी चाहिए और किसी को क़ानून अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है.

Owaisi Modi ka baap
Owaisi Modi ka baap

उधर उनके इस बयान से राजस्थान सरकार के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने पल्ला झाड लिया है. Nवहीं इस मामले पर विपक्ष ने भाजपा को घेर लिया है. उधर आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने भी इस बारे में टिपण्णी की. उन्होंने राजस्थान सरकार के मंत्री जयंत यादव के बयान को री-ट्वीट करते हुए एक शेर लिखा है.

Owaisi Boss Yogi ka
Owaisi Boss Yogi ka

उन्होंने लिखा है,”इधर आ सितमगर हुनर आजमाएं/तू तीर आज़मा हम जिगर आज़माएँ” औवेसी के शेर का अर्थ ये समझा जा सकता है कि जो सितम करने वाला है उससे हुनर आज़माते रहें, वो तीर से खेले और हम जिगर आगे करते रहेंगे. सरकार इस मामले में कार्रावाई करने का भरौसा तो दिला रही है लेकिन पुलिस से हुई ग़लतियों की वजह से राजस्थान की वसुंधरा सरकार पर भी आलोचनाओं के हमले हो रहे हैं.

Modi Dare Owaisi se
Modi Dare Owaisi se

पाकिस्तान में ओवैसी का यह भाषण सुनकर, भक्त भी हो जाएँगे उनके समर्थक

Bhakt bane Owaisi Fan

हैदराबाद से लोकसभा सांसद और एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी मोदी राज में देश के मुसलमानों के साथ हो रहे पक्षपात के खिलाफ आवाज़ उठाने में हमेशा आगे आते हैं। ओवैसी ने कई बार देश में बढ़ रही मॉब लिंचिंग के मामले में केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार को घेरा है। जिक्से चलते ओवैसी की छवि मुसलमानों के नेता के रूप में बन चुकी है।

Owaisi the great
Owaisi the great

1. पाकिस्तानी चैनल पर हुई डिबेट में शामिल हुए ओवैसी

हाल ही में असदुद्दीन ओवेसी पाकिस्तान के न्यूज़ चैनल जियो टीवी पर एक डिबेट शो में शामिल हुए। इस डिबेट शो का टाइटल था अमन की आशा ओवैसी के साथ भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर और बीजेपी सांसद कीर्ति आजाद भी उनके साथ इस डिबेट शो में शामिल हुए।

I love Asaduddin owaisi
I love Asaduddin owaisi

2. पाकिस्तानी नेताओं को लगाई लताड़

वही पाकिस्तान की तरफ से डॉक्टर फरीद अहमद पराचा, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के शाह महमूद कुरैशी पाकिस्तान लीग इन के खुर्रम दस्तगीर खान और पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के सैयद नवीन कमर से शामिल हुए।पाकिस्तानी न्यूज़ चैनल जियो टीवी के एंकर हामिद मीर ने पाकिस्तानी नेताओं और भारतीय नेताओं के बीच जिहाद और अन्य मामलों पर बहस छेड़ी। इस डिबेट शो में ओवैसी ने पाकिस्तानी नेताओं को जमकर लताड़ लगाई।

3. भारतीय मुसलमान की चिंता छोड़ दें

पाकिस्तानी नेताओं द्वारा भारत के मुसलमानों पर की जा रही टिप्पणी पर ओवैसी ने कहा कि बांग्लादेश में जमात-ए-इस्लामी कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी का गुस्सा आपको भारत और पाकिस्तान पर नहीं निकालना चाहिए। इस मामले पर ओवैसी ने भारत के संविधान का हवाला देते हुए कहा कि हमारा देश एक सेकुलर देश है। भारत में रह रहे मुसलमानों का राष्ट्र भारत है। आप भारत के  मुसलमानों की चिंता करना बंद कर दें।

Asaduddin owaisi King Indian Politics
Asaduddin owaisi King Indian Politics

4. भारत एक सेक्युलर देश, मुसलमान वहां खुश

संविधान के मुताबिक, अल्पसंख्यकों को उनके अधिकार दिए गए हैं। भारत के मुसलमानों ने 60 साल पहले फैसला किया था अब भारत ही उनका देश है। इसके साथ ओवैसी ने कहा कि जिहाद आपके लिए कुछ और होगा। लेकिन हमारे में जिहाद के मायने कुछ और हैं। लोगों को मारना कहाँ का जिहाद है।

निष्कर्ष: गौरतलब है कि देश के मुसलमानों को आजकल छोटी सी बात पर देशद्रोही करार कर पाकिस्तान जाने की सलाह दे दी जाती है। लेकिन ओवैसी ने जो बयान दिया है, उससे साबित होता है कि देश के मुसलमान भारत से कितना प्यार करते हैं।

सीधी बात में तीन तलाक़ को लेकर ओवैसी ने दिया बड़ा बयान

Owaisi Views on Triple talaq

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ‘आजतक’ के खास कार्यक्रम ‘सीधी बात’ में आज के खास मेहमान हैं और इस कार्यक्रम में वह तीन तलाक से लेकर, सेकुलरिजम और मॉब लिंचिंग तक हर मुद्दे पर बोल रहे हैं।

Owaisi on Aaj Tak
Owaisi on Aaj Tak

इस कार्यक्रम को रविवार रात आठ बजे दोबारा देखा जा सकता है। ‘सीधी बात’ आजतक का खास कार्यक्रम है, जिसे एंकर श्वेता सिंह होस्ट करती हैं। इसमें देश-दुनिया के जाने-माने चेहरों का ज्वलंत मुद्दों पर इंटरव्यू लिया जाता है। अपने नाम की तरह इस कार्यक्रम में आने वाले मेहमानों से खरे अंदाज में सीधे सवाल पूछे जाते हैं।

asaduddin owaisi
asaduddin owaisi

सांसद ओवैसी अपनी बेबाकी के लिए जाने जाते हैं और ‘सीधी बात’ कार्यक्रम में भी अपनी बात रखेंगे। अलवर में हुई मॉब लिंचिंग की घटना के बाद ओवैसी ने मोदी सरकार को घेरा और उन्होंने केंद्र सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए मोदी शासन के चार सालों को ‘लिंच राज’ की संज्ञा दे डाली।

ओवैसी ने घटना की आलोचना करते हुए कहा कि संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत देश में गाय का जीवन बुनियादी अधिकार बन गया है और उसकी वजह से जिन मुसलमानों को मारा जा रहा है, उन्हें जीने का कोई अधिकार नहीं है। ओवैसी ने सीधे तौर पर मोदी सरकार के चार सालों को लिंच राज करार दिया है।

विडियो: अलवर की घटना पर ओवैसी ने ‘मोदी राज’ को दिया ये खतरनाक नाम, मचा बवाल

Modi hai gau taskar

राजस्थान के अलवर में गो-तस्करी के शक में हुई मॉब लिं चिंग की घटना पर एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार को घेरा है। उन्होंने सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए मोदी शासन के चार सालों को ‘लिंच राज’ की संज्ञा दी है।

Owaisi mODI bOSS
Owaisi mODI bOSS

अलवर में गोरक्षकों ने एक बार फिर आतंक मचाया है। आरोप है कि दो गाय ले जा रहे हरियाणा के अकबर खान को कुछ लोगों ने पकड़कर उनकी बुरी तरह पिटाई की, जिससे उनकी मौ त हो गई। इस घटना ने एक बार राजस्थान में कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। वहीं, दूसरी तरफ विपक्षी दलों ने एक बार फिर इस घटना के जरिए मोदी सरकार को घेरा है।

Owaisi tWEET
Owaisi tWEET

ओवैसी ने घटना की आलोचना करते हुए कहा कि संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत देश में गाय का जीवन बुनियादी अधिकार बन गया है और उसकी वजह से जिन मुसलमानों को मा रा जा रहा है, उन्हें जीने का कोई अधिकार नहीं है। ओवैसी ने सीधे तौर पर मोदी सरकार के चार सालों को लिंच राज करार दिया है।

Owaisi Modi ka baap
Owaisi Modi ka baap

वहीं, सरकार की तरफ से केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने घटना की तो आलोचना की है, लेकिन सवाल भी खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि यह घटनाएं क्यों होती हैं, इसके पीछे जाना होगा। बीजेपी शासित राज्यों में मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर मेघवाल ने कहा कि जैसे-जैसे मोदीजी पॉपुलर हो रहे हैं, इस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं। उन्होंने कहा कि यह सब मोदी जी की प्रसद्धि से डरकर किया जा रहा है।

रामगढ़ थाना क्षेत्र के लालवंडी गांव में कुछ लोगों ने अकबर खान को पीट-पीटकर मा र डाला। जानकारी है कि अकबर खान के साथ दो गाय थी। ऐसा देख गो-तस्करी के शक में कुछ लोगों ने पीट-पीटकर उसकी ह त्या कर दी। फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है और गायों को गोशाला में भेज दिया गया है। मेडिकल बोर्ड से श व का पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा। मृ तक अकबर खान हरियाणा के कोलगांव का निवासी है।

अविश्वास प्रस्ताव: संसद में ओवैसी ने मोदी सरकार पर दागे ये 7 धाकड़ सवाल

Owaisi se dargaye Modi G

लोकसभा में टीडीपी द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लेकर संसद में जबदस्त गहमागहमी देखने को मिली। इसी क्रम में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए सात सवाल पूछे। उन्होंने काफी कम समय में अपनी बात रखी और सात सवाल पूछे।

असदुद्दीन ओवैसी के सात सवाल

1। प्रधानमंत्री बोलते हैं कि मुसलमानों के हाथ में कुरान और कंप्यूटर देखना चाहते हैं आखिर क्या वजह है कि 2013-2018 तक बजट में कोई वृद्धि नहीं हुई ?

2। प्रधानमंत्री के15 पॉइंट प्रोग्राम का यह नियम है कि तीन महीने में एक दफा कैबिनेट सेक्रेटरी बैठक लेगा, लेकिन चार साल में कोई बैठक क्यों नहीं हुई? इसी प्रोग्राम में 10वां बिंदु है जिसमें अकलियत को रेलवे, पैरामिलिट्री में रोजगार दिया जाएगा, लेकिन एक प्रतिशत रोजगार नहीं दिया गया।

3। प्रधानमंत्री ने 1400 करोड़ रूपए दौरे में खर्च किए लेकिन क्या वजह है कि नेपाल श्रीलंका और मालदीव चीन की गोद में बैठा है?

Modi Dare Owaisi se
Modi Dare Owaisi se

4। प्रधानमंत्री दलितों से मुहब्बत करने का जिक्र करती है लेकिन जिस जज ने एसएसी-एसटी एक्ट के खिलाफ फैसला दिया क्या वजह है कि उन्हे एनजीटी का चेयरमैन बना दिया गया?

5। कश्मीर को लेकर क्या पॉलिसी है जितने आतंकवादी मारे जाते हैं उतनी ही संख्या में हमारे जवान भी मारे जाते हैं।

6। जिस तरह से देश में दलितों और मुसलमानों का दमन हुआ है। क्या प्रधानमंत्री कांग्रेस मुक्त भारत चाहते हैं या दलित-मुसलमान मुक्त मुल्क चाहते हैं?

7। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा सबसे बड़ी लिंचिंग 1984 मे हुई, मैं कहना चाहता हूं कि लिंचिंग न सिर्फ 1984 में हुई बल्कि बाबरी की शहादत में और 2002 के गुजरात दंगों मे भी हुई थी।

बता दें कि बीते बजट सत्र में भी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की कोशिश की गई थी, लेकिन तब हंगामे की वजह से प्रस्ताव पेश नहीं किया जा सका था। लेकिन संसद के मॉनसून सत्र में लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने टीडीपी द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को मंजूरी दी है।