बीजेपी सांसद के पैर धोकर कार्यकर्ता ने पीया पानी, विवाद देख ग्रन्थों से जायज ठहराया

BJP Worker wash the feet of BJP MP and Drunk

गोड्डा : कलाली से कन्हवारा गांव में कझिया नदी पर 21 करोड़ की लागत से बनने वाले हाइलेवल पुल के शिलान्यास के मौके पर भाजपा कार्यकर्ता द्वारा बीजेपी सांसद डॉ निशिकांत दुबे के पैर धोकर उसी पानी को पीने का मामला सामने आया है।

डॉ. निशिकांत दुबे ने अपनी फेसबुक वाल पर इसकी तस्वीर साझा करते हुए कार्यकर्ता की काफी प्रशंसा की, हालांकि आलोचना के शिकार होते देख काफी देर के बाद उन्होंने उस पोस्ट को एडिट कर पांव पखार कर पीने की बात को हटा दिया।

इस तस्वीर को अपने फेसबुक पर डालते हुए सांसद ने लिखा कि आज मैं खुद को बहुत छोटा कार्यकर्ता समझ रहा हूं। उन्होंने बताया कि भाजपा के महान कार्यकर्ता पवन साह ने पुल बनाने की खुशी में हजारों लोगों के सामने उनके पैर धोए। उन्होंने आगे ऐसी इच्छा भी जताई कि उन्हें भी यह मौका मिले और वह भी कार्यकर्ता के पैर धोकर ‘चरणामृत’ पिएं।

विवाद बढ़ता देख उन्होने अपनी सफाई में लिखा कि “अपनों में श्रेष्ठता बांटी नही जाती और कार्यकर्ता यदि खुशी का इजहार पैर धोकर कर रहा है तो क्या गजब हुआ?” उन्होंने संस्कृति और परंपरा के हवाले से कहा कि पैर धोना तो झारखंड में अतिथि के लिए होता ही है। सारे कार्यक्रम में आदिवासी महिलाएँ क्या यह नहीं करती हैं?

उन्होंने अपनी आलोचना को गलत ठहराते हुए लिखा कि इसे राजनीतिक रंग क्यों दिया जा रहा है? अतिथि के पैर धोना गलत है तो अपने पुरखों से पूछिए कि महाभारत में कृष्ण जी ने क्या पैर नहीं धोए थे? लानत है घटिया मानसिकता पर।

48 रुपए प्रतिलीटर होनी चाहिए पेट्रोल की कीमत, रंगदारी वसूल रही है मोदी सरकार: बीजेपी सांसद

Petrol Price should not be more than Rs 48 per litre Subramanian Swamy

नई दिल्ली। बीजेपी के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी पार्टी की सरकार पर पेट्रोल-डीजल के दामों के जरिए रंगदारी वसूलने का आरोप लगाया। उन्होंने मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि, “सरकार पेट्रोल की कीमत को 48 रुपये प्रति लीटर से नीचे लाए। इससे ज्यादा वसूलना रंगदारी है।”

स्वामी ने सोमवार को अपना फॉर्मूला सुझाते हुए कहा कि पेट्रोल की कीमत प्रति लीटर 48 रुपए होनी चाहिए और सरकार यदि इससे ज्यादा वसूलती है तो वह ‘शोषण’ है। सोमवार को पेट्रोल और डीजल के दाम सोमवार को रिकॉर्ड स्तर पहुंच गए। दिल्ली में सोमवार को पेट्रोल की कीमत 31 पैसा बढ़कर प्रति लीटर 79.15 रुपए के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई।

वहीं, मुंबई में पेट्रोल का भाव प्रति लीटर 86.56 रुपए हो गया है। सोमवार को डीजल के भाव में भी बढ़ोतरी देखी गई। डीजल का भाव 44 पैसे चढ़कर मुंबई में 75.54 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया। दिल्ली में इसका भाव 71.15 रुपए प्रति लीटर हो गया।

Petrol Price should not be more than Rs 48 per litre Subramanian Swamy
Petrol Price should not be more than Rs 48 per litre Subramanian Swamy

केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने रविवार को आरोप लगाया था कि देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ने के पीछे की वजह ‘बाहरी तत्व’ हैं। लेकिन यह बढ़ोत्तरी अस्थायी है। उन्होंने कहा कि, “क्रूड ऑयल के उत्पादन में कमी भारत में इसकी कीमतों में बढ़ोत्तरी की एक वजह है।

वहीं डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने भी बढ़ती कीमतों की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर केंद्र सरकार मूक दर्शक बनी हुई है। एक बयान में स्टालिन ने कहा कि ईंधन की कीमतों को कम करने के लिए सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया है।