बिहार में जंगलराज, तेजस्वी बोले, ‘जिस मुख्यमंत्री में लोकशर्म ही नहीं बची हो उसे क्या-कुछ कहें?’

Tejasvi Yadav angry on CM Nitish Kumar for crime in Bihar

नई दिल्ली – राजद के युवा नेता और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने बिहार में बढ़ते अपराध को लेकर कहा है कि जिस मुख्यमंत्री में लोकशर्म ही नहीं बची हो उसे क्या-कुछ कहें?। तेजस्वी ने ये बातें इसलिये कहीं क्योंकि बिहार में हाल ही में लिंचिंग की कई वारदात हुई हैं।

तेजस्वी ने कहा कि मॉब लिंचिंग का हब बना बिहार, बेगूसराय में भीड़ ने पीटकर 3 व्यक्तियों की हत्या की। रोहतास में दलित महिला की पीटकर हत्या, हाजीपुर में दरोग़ा तो जहानाबाद में एएसपी पर हमला, सासाराम में महिला को निर्वस्त्र घुमाया जिस मुख्यमंत्री में लोकशर्म ही नहीं बची हो उसे क्या-कुछ कहें?

उन्होंने कहा कि बिहार में चहुँओर अराजकता का माहौल है। अपहरण, बलात्कार, हत्या, लूट, मॉब लिंचिंग से हाहाकार मचा हुआ है। क़ानून व्यवस्था समाप्त हो चुकी है। प्रखंड से लेकर मुख्यमंत्री सचिवालय तक भ्रष्टाचार का बोलबाला है। सरकारी कार्यालयों में विशेष RCP टैक्स चुकाये बिना आप पैर भी नहीं रख सकते।

तेजस्वी ने आगे कहा कि हमें ही शर्म आने लगी है आख़िर मुख्यमंत्री नीतीश जी बीजेपी की डबल इंजन वाली बुलेट ट्रेन में बैठकर भी इतने सुस्त, लाचार, बेबस और असहाय क्यों है? 11 करोड़ बिहारवासियों के जनविश्वास का क़त्ल कर बीजेपी को सत्ता सौंपने वाला व्यक्ति आख़िर इतना लाचार कैसे हो सकता है?

पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि क्या बिहार को ये डरावने दिन दिखाने के लिए ही नीतीश कुमार जी दिन-दहाड़े बीजेपी के साथ भागे थे। अगर मैं ग़लत था और उन्हें अपने चेहरे पर इतना गुमान था तो विधानसभा भंग कर चुनाव में जाते। मुख्यमंत्री जी, जनादेश अपमान के एवज में भाजपा के साथ हुई अपनी गुप्त डील को सार्वजनिक करें।