पूर्व PM मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार को घेरा, कहा- पिछले कुछ सालों में बढ़ी मॉब लिंचिंग की घटनाएं

Manmohan Singh said In the last few years incidents of increased mobs lynching

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार को घेरते हुए कहा है की देश में पिछले कुछ वर्षों के भीतर असहिष्णुता, सांप्रदायिक ध्रुवीकरण और भीड़ द्वारा हिंसा की घटनाएं बढ़ी हैं तथा इस तरह के चलन को रोकने के लिए सभी को एकजुट होना होगा क्योंकि इस तरह की घटनाओं से सिर्फ राष्ट्रीय हित को नुकसान पहुंचता है।

न्यूज एजेंसी पीटीआई ने बताया कि मनमोहन सिंह सोमवार को ‘राजीव गांधी राष्ट्रीय सद्भावना पुरस्कार के कार्यक्रम में बोल रहे थे। इस बार यह पुरस्कार पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल गोपाल कृष्ण गांधी को दिया गया।

सिंह ने कहा, ‘यह गंभीर चिंता का कारण है कि हमारा देश पिछले कुछ वर्षों में परेशान करने वाले चलन का साक्षी बना है। बढ़ती असहिष्णुता, सांप्रदायिक ध्रुवीकरण कुछ समूहों द्वारा बढाई जा रही घृणा एवं हिंसा की बढ़ती घटनाएं तथा भीड़ का काननू अपने हाथ में लेने का यह चलन सिर्फ हमारे देश के राष्ट्रीय हित को नुकसान पहुंचा सकता है। ये चलन शांति, राष्ट्रीय एकीकरण और सांप्रदायिक सौहार्द को बढ़ावा देने के संदर्भ में अभिशाप हैं। अब शायद हमें ठहरने और सोचने की जरूरत है कि हम कैसे एकजुट हो कर इन चलन को रोक सकते हैं।’

Source: hindi.siasat.com

पूर्व पीएम राजीव गांधी की जयंती पर सोनिया और राहुल ने दी श्रद्धांजलि

Sonia and Rahul paid homage to former PM Rajiv Gandhi birth anniversary

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने पिता और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की जयंती के मौके पर उन्हें याद करते हुए कहा कि वह एक दयालु, सौम्य और स्नेही व्यक्ति थे, जिनकी असामयिक मृत्यु ने मेरे जीवन में एक गहरा शून्य छोड़ा है. राजीव गांधी की जयंती पर उनके समाधि स्‍थल पर सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने श्रद्धांजलि दी. उनके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रियंका गांधी वाड्रा, राबर्ट वाड्रा समेत कांग्रेस के अन्‍य नेताओं ने भी श्रद्धांजलि दी.

राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा है कि वह एक दयालु, सौम्य और स्नेही व्यक्ति थे, जिनकी असामयिक मृत्यु ने मेरे जीवन में एक गहरा शून्य छोड़ा है. उन्‍होंने कहा, ‘मुझे उनके साथ बिताया गया समय याद है और भाग्‍यशाली था कि कई जन्‍मदिन उनके साथ मनाएं जब वह जिंदा थे. उन्‍होंने कहा कि उन्‍हें बहुत याद करता हूं लेकिन वह मेरी यादों में हैं.

इससे पहले 21 मई को राजीव गांधी की पुण्‍यतिथि के मौके पर उन्हें याद करते हुए राहुल ने लिखा था कि मेरे पिता ने मुझे सिखाया है कि नफरत उन लोगों के लिए जेल की तरफ है जो इसके साथ जीते हैं. आज उनकी पुण्यतिथि के मौके पर मैं उन्हें धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मुझे सभी को प्यार और सम्मान देना सिखाया. यह सबसे बहुमूल्य तोहफा है जो एक पिता अपने बेटे को दे सकता है’.अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर राहुल गांधी ने लिखा कि, हममें से जो राजीव गांधी को प्यार करते हैं वे हमेशा आपको अपने दिल में रखेंगे.

गौरतलब है कि पूर्व पीएम राजीव गांधी का जन्म 20 अगस्त 1944 को हुआ था. वे भारत के सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री थे.कैम्ब्रिज के ट्रिनिटी कॉलेज और लंदन के इम्पीरियल कॉलेज से उच्च शिक्षा हासिल करने वाले राजीव गांधी वर्ष 1984 में अपनी मां इंदिरा गांधी की हत्या के बाद भारी बहुमत के साथ 40 वर्ष की आयु में भारत के प्रधानमंत्री बन गए थे.वर्ष 1991 में 21 मई को चेन्नई के पास श्रीपेरंबदूर में एक चुनावी जनसभा के दौरान आत्मघाती हमलावर ने राजीव गांधी की हत्या कर दी थी.

 

Source: hindi.siasat.com