गौ तो भक्तों का बहाना है, असल में मुस्लिम निशाना हैं: आप विधायक

Alka lamba Beautiful

राजस्थान के अलवर में कथित गौरक्षा के नाम पर गौरक्षकों के हाथों मारे गए अकबर हत्याकांड पर प्रतिक्रिया देते हुए आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा ने कहा कि गाय तो सिर्फ बहाना है। असल में मुस्लिमों को निशाना बनाना है।

Alka lamba in Saree
Alka lamba in Saree

अलका ने ट्वीट करकहा कि कौन कहता है कि भक्त गौ के रक्षक हैं ? किसी हिन्दू को गौ ले जाते वक्त इन भक्तों द्वारा कभी उन्हें मारते देखा है क्या ? गौ तो भक्तों का बहाना है, असली में मुस्लिम ही इनका निशाना हैं। यह”गौ रक्षक”नही बल्कि “नर (मुस्लिम) भक्षक” है।

Alka lamba Tea

अलका ने इस घटना के बहाने केन्द्रीय मंत्री जयंत सिन्हा पर भी तंज किया है और कहा है कि जल्द इन्हें भी हार माला पहनाई जायेंगी। केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा झारखंड के हजारीबाग में उन लोगों का फूल माला पहनाकर सम्मान किया था जिन्होंने बीते साल अलीमुद्दीन नाम के एक शख्स को गाय के नाम पर पीट-पीट कर हत्या कर दी थी।

Alka lamba Great Leader
Alka lamba Great Leader

बता दें कि मृतक अकबर उर्फ़ रकबर पुत्र सुलेमान अपने साथी के साथ गायों को लेकर लालामंडी रामगढ़ से पैदल जा रहे थे। तभी रास्ते में कथित गौ रक्षकों के साथ ग्रामीणों ने उनकी पिटाई कर दी। इस दौरान अकबर का एक साथी तो भाग निकला, लेकिन अकबर भीड़ के हत्थे चढ़ गया। सूचना के बाद पुलिस ने अकबर को अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां उसकी मौत हो गई।

ओवैसी की योगी को चुनौती – योगी दलितों के बड़े हमदर्द हैं तो आबादी के मुताबिक दें आरक्षण

Owaisi Boss Yogi ka

अलीगढ़ विश्वविद्यालय में दलितों को आरक्षण देने का मुद्दा उठाने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चुनौती देते हुए ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि योगी अगर दलितों के हमदर्द बन रहे हैं तो उनकी आबादी के मुताबिक उन्हें आरक्षण दें।

आज तक के ‘सीधी बात’ कार्यक्रम में ओवैसी ने कहा, ‘योगी जी अगर दलित के हमदर्द हैं तो उत्तर प्रदेश में उनकी आबादी के मुताबिक आरक्षण मुहैया कराएं। उन्होंने कहा कि अलीगढ़ और जामिया में 50 फीसदी तो अपर कास्ट को मिल रहा है। योगी आदित्यनाथ यह प्रावधान हटा दें।

Muslim leader Owaisi
Muslim leader Owaisi

उन्होंने बीजेपी के दलित प्रेम पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ जिस जज ने फैसला दिया, उसे एनजीटी का अध्यक्ष बना दिया गया। इतना ही दलितों से प्रेम हो तो निजी क्षेत्र में भी उन्हें 50 फीसदी आरक्षण दीजिए।

ओवैसी ने मॉब लिंचिंग पर कहा कि पिछले 4 सालों में इस तरह की घटनाएं बढ़ी हैं। अगर 2009 की तुलना में देखें तो 85 फीसदी का इजाफा हुआ है। उन्‍होंने कहा कि इस सरकार में नफरत की दीवारें उठी हैं। मुसलमानों पर शक किया जा रहा है और सरकार में बैठे लोग इन सबकी वकालत करते हैं। अखलाक को मारने वाले को तिरंगे में लपेटा जाता है और मॉब लिंचिंग के आरोपियों का मंत्री स्वागत करते नजर आते है।

पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के टोपी पहनने से इंकार के सवाल पर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘मैं अगर वहां पर होता तो उन्हें टोपी नहीं देता, आप सीएम हैं, आप कासिम को बुलाकर गले लगा लीजिए, उस कासिम को मारा पीटा गया जो पानी के लिए भीख मांग रहा था। उत्तर प्रदेश में बच्ची के साथ मोलेस्टेशन हुआ, उसे पास बुलाकर बोलते कि मैं तुम्हारा बाप हूं, तुम्हारा भाई हूं, ये कहना चाहिए था।’

Owaisi Boss BJP ka
Owaisi Boss BJP ka

उन्होंने कहा कि टोपी कौन पहनाएगा. टोपी तो ये पहना ही रहे हैं इतने सालों से। यह आपकी ड्यूटी है और आप कोई एहसान नहीं कर रहे, आप मुख्यमंत्री हैं। वो तो कर ही नहीं पा रहे।

सोनिया ने कहा: मोदी सरकार की ‘उलटी गिनती’ हुई शुरू

Sonia gandhi Modi sarkar bye bye

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी ने आज नरेंद्र मोदी सरकार पर तीखा हमला बोला और कहा कि देश की जनता को उस ‘खतरनाक शासन’ से बचाना होगा है जो भारत के लोकतंत्र को संकट में डाल रहा है।

वह नवगठित कांग्रेस कार्य समिति की बैठक को संबोधित कर रही थीं। सोनिया गांधी ने भारत के वंचितों और गरीबों पर ‘निराशा और डर के शासन’ को लेकर लोगों को आगाह किया।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बयानबाजी उनकी इस ‘हताशा’ को दिखाती है कि मोदी सरकार के जाने की ‘ उलटी गिनती ’ शुरू हो गई है। संप्रग अध्यक्ष ने कहा, ‘‘हम गठबंधन करने और उसे सफल बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं और इस प्रयास में हम सभी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ हैं। ’’

Sonia Gandhi Slam Narendra modi
Sonia Gandhi Slam Narendra modi

उन्होंने कहा, ‘‘हमें खतरनाक शासन से लोगों को बचाना होगा जो भारत के लोकतंत्र को संकट में डाल रहा है।’’ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल के नेतृत्व में आज नगठित कांग्रेस कार्यसमिति की पहली बैठक हुई।

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि नवगठित कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) अतीत, वर्तमान और भविष्य के बीच का सेतु है। साथ ही उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे भारत के दबे – कुचले लोगों की लड़ाई लड़ें।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने संबोधन में कांग्रेस अध्यक्ष को भरोसा दिलाया कि वह और दूसरे सभी कांग्रेसजन भारत के सामाजिक सद्भाव और आर्थिक विकास को बहाल करने के मुश्किल भरे काम को पूरा करने में उनके साथ हैं।

सिंह ने कहा, ‘‘ मैं राहुल जी को विश्वास दिलाता हूं कि हम सामाजिक सद्भाव और आर्थिक विकास को बहाल करने के मुश्किल भरे काम को पूरा करने उनका पूरा सहयोग करेंगे।’’

क्या 2019 का भारत का आखिरी चुनाव होगा?

ban evm vvpat 2019 election

जून 24 2017 को टाइम्स ऑफ इंडिया में छपा हुआ आर्टीकल कहता है कि अगर 2019 में बीजेपी जीतती है तो भारत में क्या फिर कभी इलेक्शन होंगे?

ये आर्टिकल बहुत ही भयंकर जानकारी दे रहा है। इस आर्टिक्ल के अनुसार अगर बीजेपी 2019 में सत्ता में आती है तो समझ लेना के आपको दुबारा मतदान करने की जरुरत ही नहीं पडेगी। इसलिए काँग्रेस और भाजपा दोनों इसी एजेंडे पर काम कर रहे हैं। बहुत जल्द भाजपा और काँग्रेस कि साझेदारी होती हुई दिखाई देगी।

evm machine
evm machine

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार भाजपा के लिए 2019 का चुनाव बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है। अगर 2019 का चुनाव भाजपा जीतती है तो भारत को आधिकारिक तौर पर हिन्दू राष्ट्र का दर्जा दे देगी। मगर इसमें सबसे बड़ी बाधा भारत का संविधान है। लोक सभा और राज्यसभा में बहुमत होने का कारण भाजपा 2019 के बाद भारत का संविधान बादल कर एक पार्टी द्वारा शासित देश कर सकती है।

evm vvpat 2019 election
evm vvpat 2019 election

ऐसे में भारत कि जनता के पास 2019 आखिरी मौका है संघी एजेंडे को फ़ेल करने का।

अगर भाजपा 2019 में बहुमत हासिल कर लेती है तो वो भारत के मौजूदा संविधान को खत्म कर “ब्राम्हण पीनल कोड” यानि ब्राह्मणों का राज “मनुस्मृति” के संविधान को लागू कर देगी।

इसीलिए हमें सबसे पहले ईवीएम को बैन करवाकर बैलेट पेपर पर चुनाव करने के संघर्ष करना चाहिए। जैसा कि चुनाव आयोग ने एक नया शोसा छोड़ दिया है VVPAT का, असल में देखा जाए तो ये वीवीपीएटी ही ईवीएम हैकिंग को कानूनी जामा पहनाने का एक हथियार है।

इसको एक छोटे से उदाहरण से समझा जा सकता है कि जैसे एटीएम से पैसा निकलते वक़्त आपके अकाउंट से पैसा तो कट जाता है मगर पैसा आपको नहीं मिलता, यानि एटीएम से पैसा आपको नहीं मिलता। उसके बाद लगते रहो कस्टमर केयर के चक्कर…!!!

#BAN_EVM_SAVE_NATION

विडियो: अलवर की घटना पर ओवैसी ने ‘मोदी राज’ को दिया ये खतरनाक नाम, मचा बवाल

Modi hai gau taskar

राजस्थान के अलवर में गो-तस्करी के शक में हुई मॉब लिं चिंग की घटना पर एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार को घेरा है। उन्होंने सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए मोदी शासन के चार सालों को ‘लिंच राज’ की संज्ञा दी है।

Owaisi mODI bOSS
Owaisi mODI bOSS

अलवर में गोरक्षकों ने एक बार फिर आतंक मचाया है। आरोप है कि दो गाय ले जा रहे हरियाणा के अकबर खान को कुछ लोगों ने पकड़कर उनकी बुरी तरह पिटाई की, जिससे उनकी मौ त हो गई। इस घटना ने एक बार राजस्थान में कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। वहीं, दूसरी तरफ विपक्षी दलों ने एक बार फिर इस घटना के जरिए मोदी सरकार को घेरा है।

Owaisi tWEET
Owaisi tWEET

ओवैसी ने घटना की आलोचना करते हुए कहा कि संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत देश में गाय का जीवन बुनियादी अधिकार बन गया है और उसकी वजह से जिन मुसलमानों को मा रा जा रहा है, उन्हें जीने का कोई अधिकार नहीं है। ओवैसी ने सीधे तौर पर मोदी सरकार के चार सालों को लिंच राज करार दिया है।

Owaisi Modi ka baap
Owaisi Modi ka baap

वहीं, सरकार की तरफ से केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने घटना की तो आलोचना की है, लेकिन सवाल भी खड़े किए हैं। उन्होंने कहा कि यह घटनाएं क्यों होती हैं, इसके पीछे जाना होगा। बीजेपी शासित राज्यों में मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर मेघवाल ने कहा कि जैसे-जैसे मोदीजी पॉपुलर हो रहे हैं, इस तरह की घटनाएं सामने आ रही हैं। उन्होंने कहा कि यह सब मोदी जी की प्रसद्धि से डरकर किया जा रहा है।

रामगढ़ थाना क्षेत्र के लालवंडी गांव में कुछ लोगों ने अकबर खान को पीट-पीटकर मा र डाला। जानकारी है कि अकबर खान के साथ दो गाय थी। ऐसा देख गो-तस्करी के शक में कुछ लोगों ने पीट-पीटकर उसकी ह त्या कर दी। फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है और गायों को गोशाला में भेज दिया गया है। मेडिकल बोर्ड से श व का पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा। मृ तक अकबर खान हरियाणा के कोलगांव का निवासी है।

Turkey President Recep Tayyib Erdogan, हुज़ूर Tajush shariah Rahmatullahi Alayhi को खिराजे aqeedat पेश करते हुए.

Turkey President Recep Tayyip Erdogan Remember Tajushshariah Rahmatullahi Alaihi

Turkey President Recep Tayyib Erdogan, हुज़ूर Tajush shariah Rahmatullahi Alayhi को खिराजे aqeedat पेश करते हुए.

 

Click here to Listen Audio

Listen to the above audio in which Turkey president Recep Tayyib Erdogan remembering the Great Sufi scholar of Islam Hazrat Tajush shariah Rahmatullahi Alayhi.

Tajushshariah Rahmatullahi Alaihi Parda
Tajushshariah Rahmatullahi Alaihi Parda

An author of more than 50 books on Islamic theology and thought in Urdu and Arabic, Azhari inspired hundreds of scholars. After receiving his basic education at the Manzar-e-Islam madrassa of the Dargah Aala Hazrat and Islamia Inter College, Bareilly, he pursued higher studies at Al-Azhar University, Egypt. He was honoured with the prestigious ‘Fakhre Azhar’ (pride of Azhar) award by the university.

Namaze Janaza ka time me tabdeeli hue hai

Tajushshariah Rahmatullahi Alaihi
Tajushshariah Rahmatullahi Alaihi

Ahbaab e Ahl e Sunnat Ko Ittela Di Jaati Hai Ke Baroz Itwaar(Sunday) 22 July 2018 Ko Subha 10 Baje Islamiya Inter Collage Me Nabeera e Ala Hazrat Janasheen e Huzoor Mufti e Azam e Hind Sayyedna Huzoor Tajushshariyah Hazrat Allama Maulana Mufti Muhammad Akhtar Raza Khan Qadri Radiallahu Tala Anhu Ki Namaz e Janaza Ada Ki Jayegi

गले लगने के दौरान मोदी ने कान में कही ऐसी बात, जिसके जवाब में राहुल गाँधी ने मारी आँख!

Modi Roye Rahul Aankh mare

इस लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष के बीच तेजी से बहस अचल रही है। इस दौरान संसद में बीजेपी और कांग्रेस एक दूसरे को जबरदस्त तरीके से आरोपों के घेरे में लेने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के निशाने पर आई बीजेपी इस वक़्त काफी कमज़ोर पड़ी हुई नज़र आ रही है। इस बार का मानसून सत्र सत्ता में बैठी मोदी सरकार का अंतिम मानसून सत्र है।

1. संसद में कांग्रेस के निशाने पर बीजेपी

Rahul Gandhi Ne Kiya Modi Ko Lal Pila
Rahul Gandhi Ne Kiya Modi Ko Lal Pila

इस आरोप-प्रत्यारोप के दौर के दौरान संसद में काफी हंगामा मचा रहा। हालांकि बीच में एक बार संसद सिर्फ 8 मिनट के लिए स्थगित की गई। लेकिन आज सात घंटे लगातार सदन में बहस जारी रही। आपको बता दें कि इस बार सदन में हंगामे के साथ और यहाँ पर कई ऐसे नज़ारे देखने को मिले जो इससे पहले कहीं पर भी नहीं देखे गए होंगे।

2. पीएम मोदी को राहुल ने लगाया गले

Rahul Gandhi Mile Modi K gale
Rahul Gandhi Mile Modi K gale

जी हाँ, बीजेपी पर हावी हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर आरोप तो लगाए लेकिन बाद में राहुल ने ऐसा काम कर डाला जिसकी उम्मीद किसी ने भी नहीं की होगी। आपको बता दें बीजेपी पर कई आरोप लगाने के बाद राहुल चलकर देश के प्रधानमंत्री के पास पहुंचे और उन्हें गले लगा लिया।

3. पीएम मोदी को नहीं हुआ यकीन

Modi Ko Rulaya Rahul Ne
Modi Ko Rulaya Rahul Ne

राहुल के इस जैस्चर को देख कर एक बार तो पीएम मोदी भी आश्चर्यचकित हो गए। लेकिन पीएम मोदी ने भी राहुल के साथ गर्मजोशी से हाथ मिलाया और उनके कान में कुछ कहते हुए पीठ भी थपथपाई। इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिली है कि इन दोनों पीएम मोदी ने राहुल गाँधी के काम में क्या कहा।

4. पीएम मोदी को गले लगा राहुल ने मारी आँख

Rahil Wink Modi Blink
Rahil Wink Modi Blink

लेकिन इसके बाद अपनी सीट पर जाकर बैठे राहुल गाँधी ने एक नेता को आँख मार दी। जिसे लेकर सोशल मीडिया अपर हंगामा मच गया है। संसद में आँख मारते हुए राहुल की तस्वीर और वीडियो वायरल होने लगी है। इस दौरान सोशल मीडिया पर राहुल की तुलना इंटरनैट सेंसेशन बन चुकी प्रिया प्रकाश वारियर से हो रही है।

निष्कर्ष:  गौरतलब है कि राहुल गाँधी ने आज लोकसभा में हिन्दू होने की एक अलग परिभाषा दी है। उन्होंने कहा मैं किसी से नफरत नहीं करता और पीएम मोदी को गले लगा लिया।

Story Source: https://navbharattimes.indiatimes.com/india/rahul-gandhi-winks-after-hugging-pm-narendra-modi/articleshow/65068298.cms

JNU प्रकरणः दिल्ली हाईकोर्ट से मिला कन्हैय्या कुमार को इंसाफ, जानिये क्या है पूरा मामला?

Kanhaiya kumar Modi Dargaya

नई दिल्ली –  देश की प्रतिष्ठित यूनीवर्सिटी जवाहरलाल नेहरु विश्विद्यालय प्रशासन के लिए शुक्रवार को बड़े झटके वाली खबर आई. जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के पक्ष में शुक्रवार को दिल्ली की हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया है. हाईकोर्ट ने विश्विद्यालय प्रशासन के उस फ़ैसले को रद्द कर दिया है जिसमें विश्विद्यालय की तरफ से कन्हैया कुमार पर 10 हज़ार रूपये का जुर्माना लगाया गया था. जानकारी के लिये बता दें कि हाल ही में विश्विद्यालय प्रशासन ने कन्हैया कुमार पर जुर्माना लगाया था. विश्निद्यालय ने इसकी वजह कन्हैय्या द्वारा अनुशासन तोड़ना बाताया था.

अदालत ने अपने फैसले में कहा है कि कन्हैया कुमार के ऊपर की गई कार्रावाई अवैध है. हाईकोर्ट ने कहा कि विश्विद्यालय का आदेश तर्कहीन, अनियमित और अवैध है. अदालत का यह फ़ैसले के आते ही जेएनयू के वकील ने कहा कि वे कन्हैया कुमार पर लगाए गए जुर्माने को वापिस ले रहे हैं.

Kanhaiya kumar Real hero
Kanhaiya kumar Real hero

हाईकोर्ट ने जेएनयू के वकील से कहा कि,”ये बेहतर है कि आप जुर्माना वापस ले रहे हैं वरना हमने अपने आदेश में यह बताया था कि आपने जो जुर्माना कन्हैया कुमार पर लगाया है उसमें क्या-क्या खामियां हैं”. दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि हमने बताया था कि ऐसे जुर्माने का कोई औचित्य नहीं है. कन्हैया कुमार के खिलाफ विश्विद्यालय प्रशासन द्वारा की गई कार्रावाई तर्कहीन है.

गौरतलब है कि कन्हैया के अलावा जेएनयू के ही छात्र उमर ख़ालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य समेत कई और जेएनयू छात्रों पर विश्विद्यालय प्रशासन ने जुर्माना लगाया था और उनका निष्कासन किया है, अब इस मामले में 16 अगस्त को अगली सुनवाई होगी.

JNU Sedition case
JNU Sedition case

बता दें 9 फ़रवरी 2016 को जेएनयू में कथित रूप से देश विरोधी नारे लगे थे, दक्षिणपंथी गुटों ने ये भी कहा था कि ये नारे कन्हैया और उनके समर्थकों द्वारा लगाए जबकि कन्हैया और उनके साथियों ने भाजपा के छात्रसंगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) जैसे दक्षिणपंथी गुटों को इसका ज़िम्मेदार बताया है.

अविश्वास प्रस्ताव: संसद में ओवैसी ने मोदी सरकार पर दागे ये 7 धाकड़ सवाल

Owaisi se dargaye Modi G

लोकसभा में टीडीपी द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लेकर संसद में जबदस्त गहमागहमी देखने को मिली। इसी क्रम में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए सात सवाल पूछे। उन्होंने काफी कम समय में अपनी बात रखी और सात सवाल पूछे।

असदुद्दीन ओवैसी के सात सवाल

1। प्रधानमंत्री बोलते हैं कि मुसलमानों के हाथ में कुरान और कंप्यूटर देखना चाहते हैं आखिर क्या वजह है कि 2013-2018 तक बजट में कोई वृद्धि नहीं हुई ?

2। प्रधानमंत्री के15 पॉइंट प्रोग्राम का यह नियम है कि तीन महीने में एक दफा कैबिनेट सेक्रेटरी बैठक लेगा, लेकिन चार साल में कोई बैठक क्यों नहीं हुई? इसी प्रोग्राम में 10वां बिंदु है जिसमें अकलियत को रेलवे, पैरामिलिट्री में रोजगार दिया जाएगा, लेकिन एक प्रतिशत रोजगार नहीं दिया गया।

3। प्रधानमंत्री ने 1400 करोड़ रूपए दौरे में खर्च किए लेकिन क्या वजह है कि नेपाल श्रीलंका और मालदीव चीन की गोद में बैठा है?

Modi Dare Owaisi se
Modi Dare Owaisi se

4। प्रधानमंत्री दलितों से मुहब्बत करने का जिक्र करती है लेकिन जिस जज ने एसएसी-एसटी एक्ट के खिलाफ फैसला दिया क्या वजह है कि उन्हे एनजीटी का चेयरमैन बना दिया गया?

5। कश्मीर को लेकर क्या पॉलिसी है जितने आतंकवादी मारे जाते हैं उतनी ही संख्या में हमारे जवान भी मारे जाते हैं।

6। जिस तरह से देश में दलितों और मुसलमानों का दमन हुआ है। क्या प्रधानमंत्री कांग्रेस मुक्त भारत चाहते हैं या दलित-मुसलमान मुक्त मुल्क चाहते हैं?

7। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा सबसे बड़ी लिंचिंग 1984 मे हुई, मैं कहना चाहता हूं कि लिंचिंग न सिर्फ 1984 में हुई बल्कि बाबरी की शहादत में और 2002 के गुजरात दंगों मे भी हुई थी।

बता दें कि बीते बजट सत्र में भी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की कोशिश की गई थी, लेकिन तब हंगामे की वजह से प्रस्ताव पेश नहीं किया जा सका था। लेकिन संसद के मॉनसून सत्र में लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने टीडीपी द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को मंजूरी दी है।

अविश्वास प्रस्ताव: संसद में विपक्ष पर जमकर बरसे राजनाथ सिंह

Rajnath singh Kadi ninda

शुक्रवार को लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चल रहे बहस के दौरान केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अपना पक्ष रखा। अपने भाषण में राजनाथ सिंह ने कहा कि इस सदन में राजीव गांधी के शासन के समय भारतीय जनता पार्टी की 2 सीट थी। जिस वक़्त हमारा मजाक उड़ाया गया था।

लेकिन आज हम इस सदन में सबसे ज्यादा सीट के साथ बहुमत वाली पार्टी हैं। राजनाथ सिंह ने कहा यह अविश्वास प्रस्ताव बेबुनियादी है, सरकार फास्टेस्ट ग्रोव्थिंग के साथ चल रही है लेकिन विपक्ष इसमें बाधा बन रहे हैं।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह के भाषण के दौरान विपक्ष का हंगामा

विपक्ष पर हमला बोलते हुए राजनाथ सिंह ने कहा विपक्ष का एक अहम् रोल होता है जिसका सम्मान करना चाहिए। पिछले सरकार में हमने सरकार जैसे-तैसे चलने दिया। हम विपक्ष में थे लेकिन अविश्वास जैसे प्रस्ताव को लाकर बाधा नहीं डाला।

विपक्ष का फर्ज है कि जनता जनार्धन के निर्णय का सम्मान करें। जनता ने नरेंद्र मोदी को देश का नेता चुना है उसके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाना बेबुनियादी है। राजनाथ सिंह ने कहा हमारी सरकार में महंगाई घटी है। यह प्रमाण देश का हर नागरिक दे रहा है।

Idiot Modi G
Idiot Modi G

जीडीपी ग्रोथ पर रखी बात

राजनाथ सिंह ने कहा हमारी सरकार के कारण ही 4 साल में भारत की रैंकिंग 9वें स्थान से 6वें स्थान पर पहुंच गई है। उन्होंने कहा भारत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सबसे मजबूत देश बना हुआ है। साथ ही कहा कि मोबाइल बनाने की फैक्ट्री 2 से 120 हमारे सरकार के कार्य के वजह से हुई है। नोटबंदी पर बोलते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि नोटबंदी को बदनाम करने वाले यह क्यों भूल जाते हैं कि नोटबंदी के बाद भी उत्तर प्रदेश में प्रचंड बहुमत से हमारी सरकार बनी।

रक्षा को लेकर बताया सैनिक खुश हैं

राजनाथ सिंह ने कहा मई कश्मीर में अपना ज्यादा समय बिताता हूँ। वहां सैनिकों के बीच में रहता हूँ, मई इस सदन में कहना चाहता हूँ कि देश के सैनिक भी मोदी की निति से बेहद खुश हैं और समृद्ध महसूस कर रहे हैं। राजनाथ ने कहा कि देश से पैसा लेकर भागने वालों के लिए कानून हमारी सरकार में बनाए गए।